logo
Breaking

सेना भर्ती में लिखित से पहले होगा कंप्यूटर टेस्ट: मारवाल

सेना की भर्ती प्रक्रिया में काफी किए जा रहे हैं महत्वपूर्ण परिवर्तन।

सेना भर्ती में लिखित से पहले होगा कंप्यूटर टेस्ट: मारवाल

भारतीय सेना के भर्ती महानिदेशक मेजर जनरल जेके मारवाल ने कहा कि सेना की भर्ती प्रक्रिया में इस साल के अंत तक काफी महत्वपूर्ण परिवर्तन किए जा रहे हैं। उदयपुर में आयोजित 20 मई से 30 मई तक आयोजित सेनाभर्ती के अवलोकन करने आए।

मेजर जनरल मारवाल ने सवांदाताओं से बातचीत में कहा कि भर्ती प्रक्रिया के तहत शारीरिक और मेडिकल में कुछ बदलाव किए जा चुके हैं, लेकिन पायलट प्रोजेक्ट पूरी तरह से लागू हो जाने के बाद पूरी प्रक्रिया में और भी कई महत्वपूर्ण बदलाव आएंगे।

नई प्रक्रिया के तहत सेना भर्ती में पहले कम्प्यूटर आधारित लिखित परीक्षा आयोजित होगी और उसके बाद अभ्यर्थियों की शारीरिक और मेडिकल परीक्षा ली जाएंगी। अब तक शारीरिक और मेडिकल परीक्षाओं के बाद लिखित परीक्षा आयोजित की जाती थी।

उन्होंने कहा कि भारतीय सेना की भर्ती का पायलट प्रोजेक्ट सर्वप्रथम जयपुर जोन, अंबाला जोन और चेन्नई जोन में लागू किया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि भारतीय सेना की भर्ती का पायलट प्रोजेक्ट पूरे राजस्थान में लागू होगा इसका लाभ राजस्थान के उन अभ्यर्थियों को होगा जो इस वर्ष में एक बार पहले ही भर्ती में हिस्सा ले चुके हैं।

मेजर जनरल मारवाल ने कहा कि सेना सभी अभ्यर्थियों को समान अवसर देने में विश्वास रखती है और भर्ती प्रक्रिया इसलिये पूरी तरह से निष्पक्ष और पारदर्शी बनाई गई है। उन्होंने कहा कि भारतीय सेना को माओवादी इलाकों में भर्ती करने में किसी प्रकार की कोई असुविधा नहीं है और भर्ती पूरी तरह से सफल है।

सेना प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल मनीष ओझा ने बताया कि सेना की भर्ती प्रक्रिया में पायलट प्रोजेक्ट के लागू होने से सेना, प्रशासन और अभ्यर्थियों को सेना की बडी भर्ती प्रक्रिया आयोजन करने में होने वाली दिक्कतों से बचा जा सकेगा।

Share it
Top