logo
Breaking

10वीं और 12वीं के छात्रों का डेटा लीक, पास कराने के नाम पर दलाल मांगते हैं पैसे

छत्तीसगढ़ में दसवीं-बारहवीं के हजारों छात्रों के भविष्य से जुड़ा डेटा लीक हो गया है। पालकों के नाम से लेकर रोल नंबर और फोन नंबर तक ऐसे तत्वों के हाथ लग गए हैं

10वीं और 12वीं के छात्रों का डेटा लीक, पास कराने के नाम पर दलाल मांगते हैं पैसे

छत्तीसगढ़ में दसवीं-बारहवीं के हजारों छात्रों के भविष्य से जुड़ा डेटा लीक हो गया है। पालकों के नाम से लेकर रोल नंबर और फोन नंबर तक ऐसे तत्वों के हाथ लग गए हैं, जो फोन कर पास कराने के नाम पर पैसों की मांग कर रहे हैं।

एक दो नहीं, प्रदेश के आधा दर्जन से अधिक जिलों में डेटा लीक ने माध्यमिक शिक्षा मंडल के अफसरों की नींद उड़ा दी है। लीक हुए डेटा के आधार पर अज्ञात व्यक्तिों द्वारा फोन कर पालकों व छात्रों से परीक्षा में पास कराने को लेकर पैसे मांगे जा रहे हैं।

कई मामले सामने आने के बाद भी अब तक न तो पालकों द्वारा कोई लिखित शिकायत की गई है और ना ही माशिम ने कोई एफआईआर ही दर्ज की है। माध्यमिक शिक्षा मंडल ने पूरे मामले में केवल पालकों के लिए सूचना जारी करते हुए कहा है कि उनके द्वारा इस तरह के कोई फोन कॉल्स नहीं किए जा रहे।

माशिम ने पालकों से सतर्क रहने की अपील अवश्य की है, लेकिन किसी प्रकार की अन्य कार्रवाई नहीं की गई।

यह भी पढ़ेंः आंध्रप्रदेश बोर्ड परीक्षा रिजल्ट : यूपी की तरह यहां भी लड़कियों ने मारी बाजी

साइबर कैफे से लीक होने की आशंका

मौजूदा शैक्षणिक सत्र में पहली बार 10वीं-12वीं के परीक्षा फॉर्म ऑनलाइन भरे गए हैं। शहरी क्षेत्रों में इसमें अधिक दिक्कतें नहीं आईं, लेकिन अधिकतर ग्रामीण व दूरस्थ क्षेत्रों में नेट की स्पीड कम हाेने या इंटरनेट नहीं होने के कारण स्कूलों द्वारा

साइबर कैफे में जाकर छात्रों के फॉर्म भरे गए। आशंका व्यक्त की जा रही है कि छात्रों के फोन नंबर, पालकों के नाम, स्कूल, विषय व संबंधित अन्य जानकारियां इस दौरान ही लीक हुई हैं।

जिन छात्रों को पैसे की मांग वाले फोन आ रहे हैं, वे अधिकतर ग्रामीण क्षेत्रों के हैं। बड़े शहरों में जहां के स्कूलों में नेट की व्यवस्था है, एेसे फोन कॉल्स नहीं आ रहे। गरियाबंद, जगदलपुर, बस्तर, रायगढ़, जशपुर जैसे जिलों के छात्रों व पालकों को फोन आने की सूचना मिली है।

यह भी पढ़ेंः JEE Mains Result 2018: आंध्र प्रदेश के भोगी सूरज कृष्णा बने टॉपर, यहां देखें अपना रिजल्ट

बिहार का है अकाउंट नंबर

छात्रों और पालकों को फोन कर जो अकांउट नंबर बताए जा रहे हैं, वो अकाउंट नंबर बिहार के हैं। अकाउंट नंबर और आईएफसी कोड डालने पर बिहार का एड्रेस शो हो रहा है।

हालांकि इसकी आधिकारिक जांच नहीं कराई गई है। जिन नंबरों से फोन आ रहे हैं, उन नंबरों पर दोबारा कॉल करने पर कोई जवाब नहीं मिल रहा। पालकों को हर बार नए फोन नंबरों से कॉल आ रहे हैं।

फोन करने वाले छात्रों के फोन नंबर से लेकर उनके स्कूल, विषय, माता-पिता का नाम व अन्य जानकारियां जो फॉर्म भरते वक्त दी जाती है, बता रहे हैं। इससे पालक भी हैरान हैं।

इनपुट-भाषा

Share it
Top