Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सभी नहीं करवा सकते हैं घर बैठे आधार को मोबाइल से लिंक, ये हैं गाइडलाइन्स

सरकार ने दूरसंचार कंपनियों को 6 फरवरी तक आधार कार्ड को मोबाइल से लिंक करने का अल्टीमेटम दिया है।

सभी नहीं करवा सकते हैं घर बैठे आधार को मोबाइल से लिंक, ये हैं गाइडलाइन्स
X

मोबाइल नंबर को आधार कार्ड लिंक कराने में ग्राहकों को आ रही समस्या को देखते हुए UIDAI ने टेलीकॉम कंपनियों के आधार से सिम लिंक करने के तीन नए नियमों को मंजूरी दे दी है। अब आप एक दिसंबर से घर बैठे अपने नंबर को आधार से लिंक करवा सकते हैं। मोबाइल कंपनियां ग्राहकों के नंबर को OTP, इंटरेक्टिव वॉइस रिस्पॉन्स सिस्टम (IVRS) और मोबाइल ऐप के जरिए नंबर लिंक करने का ऑप्शन दे रही हैं।

यह भी पढ़ें- Redmi Note 5: फोन की कीमत और फीचर्स हुई लीक, जल्द हो सकता है लॉन्च

6 फरवरी तक हर हाल में कराना होगा लिंक

आपको ज्ञात होगा कि 6 फरवरी मोबाइल नंबर को आधार से लिंक करने की आखिरी तारीख है। यदि आखिरी तिथि तक आपने अपने मोबाइल नंबर को आधार से लिंक नहीं कराया तो आपका नंबर बंद हो जाएगा।

सिर्फ इन लोगों को ही मिलेगी घर बैठे लिंक करने की सुविधा

अब आपको यह जानकारी दे दें कि आप घर बैठे केवल उसी नंबर को लिंक कर सकते हैं जिसका इस्तेमाल आधार कार्ड बनवाते समय किया था। यानी की अगर आपके पास कोई अन्य नंबर है जिसे आप आधार से लिंक करना चाहते हैं तो आपको मोबाइल कंपनी के ऑथोराइज्ड स्टोर पर जाना होगा। वास्तव में आधार के डेटा बेस में जो नंबर मौजूद होगा उस नंबर को आधार से लिंक करने के लिए आपको किसी मोबाइल कंपनी के स्टोर नहीं जाना पड़ेगा।

यह भी पढ़ें- अगले महीने लॉन्च होगी TVS की 300cc वाली नई Apache, जाने कीमत और फीचर्स

UIDAI नें तीन विकल्प मंजूर किए

UIDAI ने दूरसंचार कंपनियों की ओर से पेश ऐप, पोर्टल या IVRS के विकल्पों को मंजूरी दी है। इन विकल्पों में पंजीकरण के बाद वन टाइम पासवर्ड (OTP) से सत्यापन की प्रक्रिया पूरी की जाएगी।

कंपनियों को 6 फरवरी तक ग्राहकों के सत्यापन की प्रक्रिया पूरी करनी है। ऐसे में उन्होंने 1 दिसंबर से मोबाइल नंबर को आधार से लिंक करने के लिए इन तीन विकल्पों को शुरू करने की घोषणा की है। यह OTP आधार बनावाने के दौरान दर्ज नंबर पर ही आएगा।

यह भी पढ़ें- भारत में इलेक्ट्रिक कार लाने के लिए इन बड़ी कंपनियों ने बनाया, ये प्लान

UIDAI का स्पष्टीकरण

UIDAI के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अजय भूषण पांडे ने कहा कि दूरसंचार कंपनियों को आधार-मोबाइल नंबर लिंक विकल्पों पर मंजूरी दी गई है। उन्होंने कहा, विकल्पों पर सुरक्षा, अनुपालन और आधार कानून तथा निजता के संरक्षण के पहलुओं पर गौर करने के बाद मंजूरी दी गई है।

स्टोर जाकर लिंक करने की सुविधा रहेगी जारी

इन उपायों का उद्देश्य समूची प्रक्रिया को सरल बनाना और लोगों के लिए इसे सुगम बनाना है। दूरसंचार कंपनी के स्टोर पर जाकर आधार के साथ मोबाइल नंबर को जोड़ने की सुविधा जारी रहेगी।

यह भी पढ़ें- Vodafone के इन नए प्लान का Reliance के ग्राहक उठा सकते हैं फायदा

दिव्यांगों का घर जाकर किया जाएगा सत्यापन

सरकार ने दूरसंचार कंपनियों को निर्देश दिया है कि वे शारीरिक रूप से अक्षम, बीमार लोगों और वरिष्ठ नागरिकों को मोबाइल आधार से लिंक करने की सुविधा उनके घर जाकर दें। उन ग्राहकों को कंपनी के स्टोर विजिट नहीं करना पड़ेगा। यह कंपनी की जिम्मेवारी है कि इन ग्राहकों के घर जाकर वेरिफिकेशन की प्रक्रिया को पूरी करे।

घर बैठे 50 करोड़ ग्राहक जोड़ सकते हैं नंबर

मौजूदा समय देश में 50 करोड़ से ज्यादा मोबाइल नंबर आधार में पंजीकृत हैं। इन सभी मामलों में ओटीपी के जरिए पुन: सत्यापन किया जा सकता है।

यह भी पढ़ें- 6,500 रुपये से भी कम कीमत में लॉन्च हुआ जबरदस्त कैमरे वाला यह स्मार्टफोन, जानें फीचर्स

ग्राहकों की निजता का रखना होगा ख्याल

सर्विस प्रोवाइडर के माध्यम से किए जाने वाले बायोमेट्रिक ऑथेंटिफिकेशन अथवा दोबारा सिम कार्ड जारी कराने के मामलों में दूरसंचार कंपनियों से यह सुनिश्चित करने को कहा गया है कि एजेंट को ग्राहक का KYC ब्योरा नहीं दिखे। न ही इस ब्योरे को किसी उपकरण में जमा किया जाएगा।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story