Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

खुलासा: इन वजहों से आप फेसबुक नहीं करेंगे इस्तेमाल, रिसर्च में हुआ खुलासा

डिजिटलाइजेशन के दौर में ऐसा शायद ही कोई शख्स होगा, जिसके पास स्मार्ट फोन न हो या फिर फेसबुक पर अकाउंट न हो।

खुलासा: इन वजहों से आप फेसबुक नहीं करेंगे इस्तेमाल, रिसर्च में हुआ खुलासा
X

डिजिटलाइजेशन के दौर में ऐसा शायद ही कोई शख्स होगा, जिसके पास स्मार्ट फोन न हो या फिर फेसबुक पर अकाउंट न हो। मेट्रो सिटी से लेकर छोटे शहरों, बड़ों से लेकर बुजुर्गों यहां तक की बच्चे भी फेसबुक से जुड़े हैं।

इसकी वजह भी साफ है कि फेसबुक सोशल नेटवर्किंग की दुनिया में क्रांति लाने वाली दुनिया की सबसे बड़ी सोशल नेटवर्किंग साइट है।

फेसबुक ने 'विपरीत प्रभाव' पड़ने की बात स्वीकारी

फेसबुक को लोग इतना पंसद करते हैं, इसलिए वह भी अपने यूजर्स का पूरा ध्यान रखता है और जिसको लेकर वह समय-समय पर अध्ययन करता रहता है। इसी कड़ी में फेसबुक ने पहली बार स्वीकार किया है कि सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर पोस्ट्स के माध्यम से परस्पर स्क्रॉल करने से लोगों को बुरा महसूस हो सकता है, मतलब कि फेसबुक पर सक्रिय सहभागिता के विपरीत प्रभाव पड़ने की संभावना होती है।

यह भी पढ़ें- ये हैं मारुति की फ्लॉप कारें, जिन्हें आप खरीदना नहीं चाहेंगे

रिसर्च में दोनों पहलुओं पर किया गया शोध

सोशल मीडिया पर वैज्ञानिक शोध का हवाला देते हुए फेसबुक सोशल मीडिया का इस्तेमाल करने के दो पहलुओं पर प्रकाश डाला-अच्छा और बुरा। अनुसंधान के अनुसार, अच्छे और बुरे पहलुओं की परख इस बात से तय होगी कि आप इस तकनीक का उपयोग कैसे करते हैं।

फेसबुक ने ब्लॉग पोस्ट में कही बड़ी बातें

उदाहरण के तौर पर फेसबुक ने यह भी बताया कि सोशल मीडिया पर आप निष्क्रिय रूप से पोस्ट के माध्यम से स्क्रॉल कर सकते हैं, टीवी देखना पसंद कर सकते हैं, या मित्रों के साथ सक्रिय रूप से बातचीत कर सकते हैं, एक दूसरे के पोस्टिंग और संदेश पर टिप्पणी कर सकते हैं।

जैसे आप जिन लोगों के बारे में परवाह करते हैं, वह आपके लिए फायदेमंद हो सकते हैं, जबकि किसी अन्य के देखने या कमेंट करने से आपको बुरा महसूस हो सकता है।

10 मिनट में ही दिखा प्रभाव

शोधकर्ताओं ने एक प्रयोग का हवाला दिया कि मिशिगन विश्वविद्यालय के छात्रों को फेसबुक पर पोस्ट करने या दोस्तों से बात करने के विपरीत उन्हें 10 मिनट के लिए फेसबुक पर पढ़ने के लिए बोला गया। शोध के अंत में फेसबुक पर पढ़ने वाले छात्र खराब मूड में दिखे।

यह भी पढ़ें- Samsung के इस जबरदस्त स्मार्टफोन की तस्वीरें हुई वायरल, जानें लॉन्च की तारीख, कीमत और फीचर्स

ऑनलाइन पढ़ना है ज्यादा खतरनाक

एक अध्ययन में पाया गया कि जिन लोगों ने औसत व्यक्ति के रूप में लगभग चार गुना ज्यादा लिंक क्लिक किए हो, या जिसने दो बार से ज्यादा कई पोस्ट को लाइक किया हो। उनके बारे में एक सर्वेक्षण में औसत से खराब मानसिक स्वास्थ्य की सूचना दी।

शोधकर्ताओं का मानना है कि दूसरों के बारे में संभवत: ऑफलाइन से कहीं ज्यादा ऑनलाइन पढ़ने से नकारात्मक सामाजिक तुलना हो सकती है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story