Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

iPhone ने किए एंड्रॉयड के यह चार फीचर्स को कॉपी, जानें इनके बारे में

पूरी दुनिया में आईफोन अपने खास फीचर्स को लेकर जाना जाता है, जिसकी वजह से लोगों यह फोन बहुत पसंद है और लोगों को इस फोन के फीचर काफी पसंद आए है। इसके साथ ही आईफोन पर आरोप लग रहा है कि आईफोन में पांच एेसे फीचर्स है जो कि एप्पल ने एंड्रॉयड से कॉपी किए है।

iPhone ने किए एंड्रॉयड के यह चार फीचर्स को कॉपी, जानें इनके बारे में
X

पूरी दुनिया में आईफोन अपने खास फीचर्स को लेकर जाना जाता है, जिसकी वजह से लोगों यह फोन बहुत पसंद है और लोगों को इस फोन के फीचर काफी पसंद आए है।

इसके साथ ही आईफोन पर आरोप लग रहा है कि आईफोन में पांच एेसे फीचर्स है जो कि एप्पल ने एंड्रॉयड से कॉपी किए है। आज आपको बताएंगे कि कैसे एप्पल कैसे इन चार फीचर्स को करता है इस्तेमाल-

एप्पल ने OLED डिस्प्ले किया यूज

कंपनी ने दूसरी कंपनियों की तुलना में इस फीचर का इस्तेमाल काफी देरी से किया है। इसके पीछे की वजह यह भी हो सकती है कि एप्पल के फोन काफी महंगे होते है, वहीं सैमसंग ने इसका इस्तेमाल 2010 में किया था।

वहीं 8 साल एप्पल ने भी इस तकनीक का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया है। इस समय ओलेड डिस्पले का इस्तेमाल काफी सारी कंपनिया कर रही है, लेकिन सबसे पहले इस तनीक का इस्तेमाल वनप्लस, एलजी, एचटीसीस गूगल शुरू कर दिया था।

ये भी पढ़े: Motorola Moto 1s लॉन्च, MI Note 5 को देगा कड़ी टक्कर, जानें इसके खास फीचर्स

एप्पल ने वायरलैस चार्जिंग का इस्तेमाल

एप्पल ने इस तकनीक का फिर से इस्तेमाल काफी देरी से किया है, वहीं वायरलैस चार्जिंग का सबसे पहला इस्तेमाल नेक्सस 4 स्मार्टफोन में किया गया था। इसके तुरंत बाद सैमसंग के फोन में लायरलेस चार्जिंग दी गई थी।

एप्पल ने वॉटर रेसिस्टेट का फीचर किया यूज

सोनी एक एेसी स्मार्टफोन कंपनी है, जिसने सबसे पहली बार वॉटर रेसिस्टेंट के साथ डस्टफीचर दिया था। इसको देखने के बाद ही सैमसंग ने 2014 में अपने स्मार्टफोन में यह फीचर दिया था। वहीं 2016 में यहां 2016 में एप्पल ने आईफोन 7 और आईफोन 7 प्लस में वॉटर रसिसेंस्टेट का फीचर शामिल किया।

ये भी पढ़े: मार्च के महीने में iPhone X बना सबसे ज्यादा बिकने वाला फोन, Redmi 5A ने हासिल किया तीसरा स्थान, जानें पूरी लिस्ट

एप्पल ने फुल व्यू डिस्प्ले दिया

कंपनी अपने सारे फोन्स में बेजल का इस्तेमाल करता है, वहीं आईफोन 6 और 6 प्लस से लेकर आईफोन 8 और आईफोन 8 प्लस में भी बेजल इस्तेमाल किया है। वहीं दूसरी तरफ शाओमी ने सबसे पहली बार इस तकनीक इस्तेमाल एज-टू-एज डिस्प्ले में किया था।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story