Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

''बिटक्वॉयन'' के बाद धमाल मचाएगा ''जियो कॉइन''! जानें पूरा मामला

जिस तरह से मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज ने टेलीकॉम सेक्टर में जियो को लाकर तहलका मचा दिया, ठीक उसी तरह कंपनी अब वर्चुअल करेंसी के सेक्टर में कदम रखने वाली है।

बिटक्वॉयन के बाद धमाल मचाएगा जियो कॉइन! जानें पूरा मामला
X

जिस तरह से मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज ने टेलीकॉम सेक्टर में जियो को लाकर तहलका मचा दिया, ठीक उसी तरह कंपनी अब वर्चुअल करेंसी के सेक्टर में कदम रखने वाली है।

सूत्रों की मानें तो मुकेश अंबानी के बेटे आकाश अंबानी जियोक्वॉयन के प्रोजेक्ट को लीड कर रहे हैं। आपको बता दें कि पिछले साल बिटक्वॉयन ने भारत समेत पूरे विश्व में तहलका मचाया था। इस क्रिप्टोकरेंसी की कीमतें दिन दुगुनी और रात चौगुनी हो गई। इस समय इसकी कीमत 12 लाख रुपए से भी ज्यादा पहुंच गई है।

यह भी पढ़ें- एयरटेल के ग्राहकों के लिए खुशखबरी, 31 मार्च तक करा सकेंगे आधार वेरिफिकेशन

एक प्रसिद्ध अखबार की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि मुकेश अंबानी के बड़े बेटे अकाश अंबानी JioCoin प्रोजेक्ट को लीड कर रहे हैं। इस टीम में 50 यंग प्रोफेशनल्स हैं और ये मिलकर ब्लॉकचेन टेक्नॉलॉजी पर काम कर रहे हैं।

रिपोर्ट् में कहा गया है कि कंपनी का टार्गेट 25 साल तक के 50 लोगों को भर्ती करके आकाश अंबानी की टीम तैयार की जाएगी।

ब्लॉकचेन टेक्नॉलॉजी दरअसल एक तरह की ट्रांजैक्शन लिस्ट का रिकॉर्ड है (डिजिटल लेजर) जिसे क्रिप्टोग्राफी से लिंक और सिक्योर किया जाता है। हर ब्लॉक में एक हैश प्वॉइंटर होता है जो इसे दूसरे ब्लॉक से जोड़ता है। यह टेक्नॉलॉजी दो लोगों के बीच हुए ट्रांजैक्शन को रिकॉर्ड कर सकता है। इसमें रिकॉर्ड की जानकारियां कॉपी नहीं की जा सकती हैं। यह डेटाबेस क्लाउड पे होते हैं ताकि इसमें ना कोई छेड़छाड़ कर सके और न ही स्पेस की कमी हो।

साधारण शब्दों में कहें तो ब्लॉकचेन एक टेक्नॉलॉजी है जिससे Bitcoin का कारोबार चलता है।

यह भी पढ़ें- आज लॉन्च हो रही है रॉयल एनफील्ड की 411cc वाली बाइक, जानें कीमत एवं फीचर्स

मौजूदा दौर में भारत में क्रिप्टोकरेंसी लीगल नहीं है, लेकिन अगर जियो ऐसी कोई तैयारी कर रहा है तो संभव है आने वाले समय में यहां इसे लीगल किया जाए। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया और वित्त मंत्रालय ने हाल ही में इसके इस्तेमाल को लेकर चेतावनी जारी की है। रिपोर्ट्स के मुताबिक बिटक्वाइन का मार्केट कैप 600 बिलियन डॉलर का है।

अगर जियो की ये योजना सफल हो जाती है तो भारतीय बाजार में रिलायंस इंडस्ट्रीज का दबदबा आगे भी कायम हो सकता है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story