Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पर्सनल लोन या ओवरड्राफ्ट, कौन सा है आपके लिए बेहतर, जानें ये बड़ी बातें

देश की सभी बैंक अपने ग्राहकों को पर्सनल लोन और ओवरड्राफ्ट दोनों ही सेवाएं देते है। इसके साथ ही पर्सनल लोन और ओवरड्राफ्ट दोनों ही क्रेडिट की सर्विस अलग-अलग नियम और कई शर्तों के साथ कई वित्तीय सर्विस कंपनियां लोन पेश करती है।

पर्सनल लोन या ओवरड्राफ्ट, कौन सा है आपके लिए बेहतर, जानें ये बड़ी बातें
X

देश की सभी बैंक अपने ग्राहकों को पर्सनल लोन और ओवरड्राफ्ट दोनों ही सेवाएं देते है। इसके साथ ही पर्सनल लोन और ओवरड्राफ्ट दोनों ही क्रेडिट की सर्विस अलग-अलग नियम और कई शर्तों के साथ कई वित्तीय सर्विस कंपनियां लोन पेश करती है।

वहीं लोनधारक पर पर्सनल लोन और ओवरड्राफ्ट के फायदे और नुकसान उनपर ही निर्भर करता है।

Realme Yo Days / 7 जनवरी से स्मार्टफोन पर होगी सेल शुरू, मिलेंगे खास ऑफर्स

ओवरड्राफ्ट और पर्सनल लोन दोनों ही इंटेरेस्ट की उच्च दर पर ग्राहक से ग्राहक और अलग-अलग ऑफिस पर अलग-अलग चार्ज करते हैं। आज हम आपको पर्सनल लोन और ओवरड्राफ्ट दोनों के ही बारे में बड़ी बातें बताएंगे।

पर्सनल लोन और ओवरड्राफ्ट की बड़ी बातें

1. उपलब्धता

बैंक एक बार जब किसी व्यक्ति को ओवरड्राफ्ट सुविधा देता हैं, तो यह राशि आपको आसानी से उपलब्ध होगी और ग्राहक आसानी से लोन राशि को निकाल पाएंगे। लेकिन अगर किसी को पर्सनल लोन लेना है, तो इसके लिए कई सारी कागजी कार्रवाई करनी होती है और प्रारंभिक सत्यापन की जरूरत पड़ती है।

ओवरड्राफ्ट सर्विस उपलब्ध कराना एक बार की प्रक्रिया है जिसे जरूरतों के मुताबिक बदला जा सकता है।

2. क्रेडिट लिमिट

ओवरड्राफ्ट सर्विस में अलग-अलग क्रेडिट सीमाएं अलग-अलग उधारकर्ता को दी जाती हैं, इसलिए ही एक ग्राहक अपनी सीमा के अंदर किसी भी आवश्यक राशि को निकाल सकता है, लेकिन पर्सनल लोन में जो राशि मंजूर की जाती है, उसमें बैंक और उधारकर्ता के बीच ऑफिशियल तरीके से तय की जाती है।

अगर बैंक प्रतिबंध लगा देता है, तो ग्राहक लोन राशि में बदलाव नहीं कर सकता है।

Best Broad Band Plans / Airtel और BSNL सस्ते इंटरनेट ब्रॉड बैंड प्लान, ऐसे उठाएं लाभ

3. ब्याज दर

ओवरड्राफ्ट पर लगाए गए ब्याज दर पर्सनल लोन से ज्यादा होते है। पर्सनल लोन की राशि तय होने के बाद ही इस लोन पर निर्धारित ब्याज दरों पर लागू किया जाता है।

लेकिन ओवरड्राफ्ट के केस में एक क्रेडिट सीमा दी जाती है, तो कोई व्यक्ति ओवरड्राफ्ट सीमा से निकासी नहीं कर सकता है। फिर इसपर किसी भी तरह का ब्याज नहीं लिया जाता है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story