Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

प्ले-स्टोर ने हटाया अपना पॉपुलर ऐप, यूजर्स को हो सकती है ये परेशानी

इस ऐप को पिछले हफ्ते गूगल पर 50 करोड़ बार डाउनलोड किया गया है।

प्ले-स्टोर ने हटाया अपना पॉपुलर ऐप, यूजर्स को हो सकती है ये परेशानी
X

सबसे बड़े सर्च इंजन गूगल ने प्ले-स्टोर से एक बहुत ही अहम ऐप को हटा दिया है। गूगल के इस फैसले के बाद यूजर्स को परेशानी भी हो सकती है। दरअसल गूगल ने मोबाइल के पॉपुलर ब्राउसिंग ऐप UC Browser को अपने प्ले स्टोर से हटा दिया है। यूसी (UC) भारत की छठा सबसे ज्यादा डाउनलोड किया जाने वाला एंड्रायड ऐप है।

यह भी पढ़ें- एयरटेल और कार्बन ने 1,799 रुपये में लॉन्च किया अब तक का सबसे सस्ता 4-जी स्मार्टफोन, जानें पूरा प्लान

एक रिपोर्ट के अनुसार इस ऐप को पिछले हफ्ते गूगल पर 50 करोड़ बार डाउनलोड किया गया है। यूसी ब्राउजर चीन की चर्चित कंपनी अलीबाबा का ब्राउजर है जो कि इंटरनेट यूज करने के काम आता है। प्ले-स्टोर से इस ऐप को हटाने से इसे इस्तेमाल करने वाले लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।

ये है वजह

हालांकि अभी भी यूसी का UC browser mini प्ले स्टोर पर उपलब्ध है, इसको गूगल की तरफ से नहीं हटाया गया है। मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक गूगल ने मिस लीडिंग प्रमोशन के कारण प्लेस्टोर से यूसी ब्राउजर को हटाया है। कुछ रिपोर्टस में यह भी कहा जा रहा है कि यूसी ब्राउजर को गूगल प्ले से 30 दिन के लिए टेंपरेरी तौर पर हटाया गया है। इसे कुछ दिन बाद फिर से रीस्टोर कर दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें- डुकाटी की इस बाइक ने जीता मोस्ट ब्यूटीफुल बाइक का खिताब, जानें क्या है खास इस बाइक में

यूसी पर लगे हैं ये आरोप

इसी साल अगस्त में भी भारतीय यूजर्स के मोबाइल डाटा को लीक करने के मामले में सरकार ने यूसी ब्राउजर की जांच के आदेश दिए थे। इस संबंध में IT मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा था कि यूसी ब्राउजर के खिलाफ ऐसी शिकायतें हैं कि यह भारतीय यूजर्स का मोबाइल डाटा चीन में रखे सर्वर को भेजता है। ऐसी भी शिकायतें थी कि अगर यूजर इसे अनइंस्टाल कर देता है या ब्राउजिंग डाटा मिटा देता है तो भी यूजर के डिवाइस के DNS पर इसका कंट्रोल रहता है।

यह भी पढ़ें- अब मोबाइल से फोटो क्लिक करते ही कर लें प्रिंट, लॉन्च हुआ ये पॉकेट प्रिंटर

पेटीएम के बिजनेस पर भी पड़ सकता है असर

अगर इन सभी आरोपों की पुष्टि हो जाती है तो यूसी ब्राउसर को हमेशा के लिए भारत में प्ले स्टोर से हटाया जा सकता है। गौरतलब है कि यूसी की पैरेंट कंपनी अलीबाबा ने बिजनेस का विस्तार करने के लिए भारतीय ई-कॉमर्स कंपनी पेटीएम के साथ करार किया है। अगर यूसी पर लगे आरोप साबित हो गये तो अलीबाबा के बिजनेस पर भी असर पड़ सकता है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story