Breaking News
Top

ट्री हाउस पर करें नेचुरल एंज्वॉयमेंट

Ramesh Kumar | UPDATED Aug 21 2016 12:21PM IST
कभी आपने प्रकृति की गोद में किसी पेड़ के ऊपर बने मचान यानी ट्री हाउस पर अपना वीकेंड गुजारा है? अगर नहीं, तो प्लान बना लीजिए। देश में ट्री हाउस में वीकेंड एंज्वॉय करने का ट्रेंड काफी तेजी से पॉपुलर हो रहा है। किसी जंगल या रिजॉर्ट में पेड़ के ऊपर बने शानदार वुडेन लॉज में सुकून के पल बिताने का एक अलग ही अनुभव होता है। शहर के कोलाहल से दूर सुबह जब पक्षियों की चहचहाट से जागेंगे, तो वह अनुभूति बेहद मैजिकल होगी। खासकर शहरों में तो अब आप इसकी कल्पना भी नहीं कर सकते। सुविधाओं के लिहाज से भी ये ट्री हाउस कहीं से कमतर नहीं होते हैं। इनमें तमाम तरह की सुविधाएं मौजूद होती हैं। अब अगर आप भी ऐसे ही किसी ट्री हाउस वीकेंड पर जाना चाहते हैं, तो केरल, तमिलनाडु, राजस्थान या हिमाचल आदि का ट्रिप प्लान कर सकते हैं। 
 
कुछ अलग हैं ये ट्री हाउसेस 
इन ट्री हाउसेस की बात ही कुछ खास है। पूरी तरह ईको फ्रेंडली ये ट्री हाउस न सिर्फ जंगलों, बल्कि चाय और कॉफी के बगानों के बीच भी मिल जाते हैं यानी, किसी को केरल के चाय या मसाले के बागानों में समय बिताना है, तो ट्री हाउस का विकल्प मौजूद है। यहां पर्यटकों के लिए मॉडर्न फर्नीचर, फ्लशेबल टॉयलेट, बेडरूम, वॉश बेसिन और वॉटर, सब कुछ मिलता है। इसके बालकनी में बैठकर आप कुदरती नजारों का आनंद उठा सकते हैं। यूं कहें कि प्रकृति के साथ छेड़छाड़ किए बिना आपको यहां घर जैसा अहसास होता है। जमीन से करीब 60 से 80 फीट की ऊंचाई पर स्थित इन ट्री हाउस तक एक खास तरह के क्रेन लिफ्ट से पहुंचा जा सकता है। बड़ा क्रेन बास्केट एलिवेटर का काम करता है और आपको टॉप पर पहुंचाता है। इसमें न बिजली खर्च होती है और न ही ज्यादा शोर होता है। कई ट्री हाउसेज में लकड़ी की सीढ़ियां भी बनी होती हैं।
 
वायनाड : वाइथिरी रिजॉर्ट
केरल में ट्री हाउस का कॉन्सेप्ट काफी लोकप्रिय है। उत्तर-पश्चिम केरल के करीब वायानाड के घने रेनफॉरेस्ट के बीच स्थित वाइथिरी रिजॉर्ट को इंटरनेशनल क्वालिटी क्राउन अवॉर्ड से भी नवाजा जा चुका है। इस रिजॉर्ट की अपनी खासियत है। यहां करीब चार ट्री हाउसेस हैं, जो पूरी तरह ईको फ्रेंडली हैं। यहां ठहरने वाले पर्यटकों को आस-पास के टूरिस्ट डेस्टिनेशन पर जाने के लिए गाड़ी भी दी जाती है। कालीकट एयरपोर्ट या रेलवे स्टेशन से इस रिजॉर्ट तक आसानी से पहुंचा जा सकता है।
 
बांधवगढ़ : ट्री हाउस हाइडवे 
मध्य प्रदेश में स्थित यह रिजॉर्ट दुनिया के सबसे खूबसूरत टाइगर रिजर्व में से एक बांधवगढ़ की सीमा पर मौजूद है। यहां पांच के करीब खूबसूरत ट्री हाउसेस हैं, जिनमें एयर कंडीशंड लिविंग एरिया, कमरे के साथ मॉडर्न अटैच्ड बाथरूम, पॉवर बैकअप के अलावा लाउंजर्स और बालकनी हैं यानी, पर्यटक बालकनी में बैठे-बैठे वाइल्डलाइफ का नजारा ले सकते हैं। यहां प्रकृति के बीच सुकून के पल गुजारने का एक अलग ही एक्सपीरियंस होगा। खजुराहो और जबलपुर यहां के नजदीकी रेलवे स्टेशन और एयरपोर्ट्स हैं।
 
जयपुर : ट्री हाउस रिजॉर्ट 
राजस्थान की राजधानी जयपुर के सयारी घाटी में स्थित यह रिजॉर्ट दुनिया के सबसे बड़े ट्री हाउस रिजॉर्ट्स में से एक है। यहां से अरावली की पहाड़ियों का खूबसूरत नजारा देखा जा सकता है। जयपुर रेलवे स्टेशन और सांगानेर एयरपोर्ट से यहां आसानी से पहुंच सकते हैं। इसके अलावा, सड़क के रास्ते जयपुर से आधे घंटे जबकि दिल्ली से तीन घंटे में यहां पहुंचा जा सकता है।
 
थेक्कडी: वान्या ट्री हाउस 
पेरियार वाइल्ड लाइफ सेंचुरी के करीब स्थित इस रिजॉर्ट में रहकर आप थेक्कडी (केरल) के जंगलों को करीब से देख सकते हैं। इस रिजॉर्ट तक पहुंचने के लिए आपको जंगल के बीच संकरे रास्ते से गुजरकर जाना होगा। गाड़ी कुछ दूर ही जा सकेगी। इसके बाद ट्रैकिंग करनी होगी और फिर एक पुलिया के जरिए ट्री हाउस तक पहुंच सकेंगे। यहां का सबसे करीबी रेलवे स्टेशन कोट्टायम है, जबकि एयरपोर्ट 180 किलोमीटर दूर है।
 
मनाली : ट्री हाउस कॉटेज
हिमाचल प्रदेश के कुल्लू-मनाली घाटी स्थित यह कॉटेज फूल और फलों के पेड़ों से घिरा हुआ है। भीड़-भाड़ से दूर एकांत में छुट्टियां बिताने वाले सैलानियों के लिए यह एक अच्छी जगह है। यह घर से दूर किसी घर जैसा ही है। लेकिन कंक्रीट और सीमेंट की जगह इसकी दीवारें लकड़ी की हैं। ट्री हाउस ओक के पेड़ पर स्थित हैं। मनाली से सड़क के रास्ते आधे घंटे में यहां पहुंचा जा सकता है।
 
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलोकरें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo