Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

ये हैं इंसानों को मार के खाने वाले दुनिया के 10 सबसे क्रूर नरभक्षी

वह लोगों को दोस्त बनाकर उनकी हत्या करता और फिर उन्हें खा जाता था।

ये हैं इंसानों को मार के खाने वाले दुनिया के 10 सबसे क्रूर नरभक्षी
X
नई दिल्ली. हमने नरभक्षी से जुड़ी कई कहानियां और किस्से सुने हैं और दुनियाभर में नरभक्षी इंसानों से जुड़े कई मामले भी सामने आ चुके हैं। सदियों से यह हमारी मान्यता रही है की प्राचीन समय में इस धरती के अलग-अलग हिस्सों में स्तिथ कई आदिवासी समुदाय नरभक्षी थे हालांकि इसके कोई ठोस सबूत हमारे पास नहीं थे। वर्तमान समय में भी यदा-कदा इंसानों के द्वारा इंसानो का मांस खाने की घटनाएं होती रहती है। लेकिन अब वैज्ञानिको ने सबूत सहित यह साबित कर दिया है की एक दौर में हमारे पूर्वज नरभक्षी थे और इंसानो द्वारा एक दूसरे को मारकर खाना आम बात थी। इनमें से कोई अंधविश्वास की वजह से तो कोई मानसिक रूप से बीमार होने के कारण इंसानों के मांस को खाता था। ऐसे में आज हम आपको दुनिया की 10 ऐसी घटनाओं के बारे में बताने जा रहे हैं। लोगों को दोस्त बनाता, फिर मारकर खा जाता था ये शख्स...
एंद्रेई चिकातिलो - चिकातिलो यूक्रेन में पैदा हुआ एक सीरियल किलर और बलात्कारी था। चिकातिलो ने 50 हत्याओं और दुष्कर्म की बात स्वीकारी थी। वह लोगों को दोस्त बनाकर उनकी हत्या करता और फिर उन्हें खा जाता। उसने माना कि इसके पीछे उसका मकसद सेक्सुअल आनंद उठाना था। चिकातिलो को 14 फरवरी 1994 को रोस्तोव में मौत की सजा दी गई।
अल्बर्ट फिश - अल्बर्ट एक विकृत मानसिकता का अपराधी और नरभक्षी था। अल्बर्ट ने एक 10 वर्षीय लड़की का मैनहटन से अपहरण किया और फिर उसकी हत्या करके खा गया। छह साल बाद अल्बर्ट ने लड़की के घरवालों को चिट्ठी भेजकर उन्हें अपने इस क्रूर कृत्य की जानकारी दी। इसके कारण वह पुलिस के हत्थे चढ़ गया। अपहरण, हत्या और नरभक्षण के आरोप में 16 जनवरी 1936 को अल्बर्ट को मौत की सजा दी गई।
अल्फर्ड पैकर - अमेरिका का रहने वाला अल्फर्ड पैकर नाम का शख्स सोने की खोज किया करता था। 9 फरवरी 1874 को वह 5 अन्य लोगों के साथ कोलोराडो पर्वतों पर सोने की खोज के लिए गया। दो महीने बाद पैकर अकेले वापस लौटा, तब अन्य लोगों के बारे में पूछने पर उसने बताया कि वह सभी को मारकर खा गया। इस मामले में उसे 40 साल की सजा हुई थी। हालांकि, बाद में उसकी मनोस्थिति और मजबूरी को समझते हुए छोड़ दिया गया।
इसेई सगावा - नरभक्षण के मामले में पकड़े गए अपराधियों की फेहरिस्त पर नजर डाली जाए, तो जापान के इसेई सगावा का नाम भी सामने आता है। जापान के कोबे में सन् 1949 में पैदा हुए इसेई को घूमने-फिरने का काफी शौक था। साल 1981 में वह पढ़ने के लिए पेरिस चला गया, जहां उसकी दोस्ती रेनी हार्टवेल्ट से हो गई। 11 जून 1981 को इसेई ने हार्टवेल्ट को साथ में पढ़ने के लिए अपने अपार्टमेंट में आमंत्रित किया और उसकी गोली मारकर हत्या कर दी। बाद उसने उसके शरीर के टुकड़े किए और उन्हें खा गया। हालांकि, मानसिक इलाज के पश्चात गिरफ्तारी के कुछ साल बाद 12 अगस्त 1986 को उसे मुक्त कर दिया गया था।
आर्मिन म्यूवस - आर्मिन जर्मनी के रोटेबर्ग का रहने वाला था। साल 2001 में उसने एक इंटरनेट साइट पर विज्ञापन दिया कि उसे 18 से 30 साल की उम्र के लोगों की आवश्यकता है, जिसके साथ गलत काम कर सके और फिर उनकी हत्या कर सके। आश्चर्यजनक रूप से उसे कई लोगों की प्रतिक्रिया भी मिली। वहीं, दो लोग उससे मिलने पहुंचे, जिनमें से एक के बॉडी पार्ट्स को आर्मिन ने चाकू से काट दिया और तलकर खा गया। जिसका बॉडी पार्ट्स काटा गया था, वह भी अपने शरीर के हिस्से को खाना चाहता था। इन कृत्यों को उन्होंने वीडियो टेप में रिकॉर्ड भी किया। 10 मई 2006 को आर्मिन को उम्रकैद की सजा सुनाई गई।
जैफ्रे डेहमर - डेहमर अमेरिकी सीरियल किलर और नरभक्षी था। 1978 से 1991 के बीच इसने 17 लोगों की हत्या की। हत्या करने से पहले यह उनके साथ बलात्कार करता था, फिर मारकर खा जाता था। डेहमर के सीरियल किलर होने की बात जैसे ही सामने आई, उसके कुछ दिन बाद 28 नवंबर 1994 को मिलवाउकी के कोलंबिया करेक्शनल इंस्टीट्यूट में एक शख्स ने पीट-पीटकर उसकी हत्या कर दी।
मॉएरोवा फैमिली- क्लारा मॉएरोवा उसकी बहन कैटरीना एक नरभक्षी महिला थी। इतना ही नहीं मॉएरोवा फैमिली के कुछ अन्य सदस्यों पर भी लोगों के मांस खाने के आरोप लगे थे। क्लारा ने अपने बेटे को भी नहीं बख्शा था। वह अपने रिलेटिव्स के साथ मिलकर अपने बेटों जैकब और ऑन्ड्रेज को प्रताड़ित किया और खुद का मीट खाने को कहा। इन बच्चों के बयान पर कोर्ट ने 24 अक्टूबर 2008 को क्लारा को 9 साल और उसकी बहन कैटरीना को 10 साल की सजा सुनाई।
आगे की स्लाइड्स में पढ़िए, खबर से जुड़ी अन्य जानकारियां-
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें
ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story