Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

ये है पेड़ों का डॉक्टर, बीमार पेड़ों का इलाज कर बचाता है जान

विजय ने हाल ही में एक जामुन के पेड़ का उपचार किया है।

ये है पेड़ों का डॉक्टर, बीमार पेड़ों का इलाज कर बचाता है जान
X
नई दिल्ली. आपने हर बीमारी के लिए डॉक्टर को इलाज करते सुना होगा। शायद ही आपने बहुत कम देखा या सुना होगा कि पेड़ों को भी ठीक करने के डॉक्टर होते हैं। जी बिल्कुल, विजय निशांथ जो कि पेड़ों के डॉक्टर हैं और इसी सराहनीय काम के चलते विजय 'द ट्री डॉक्टर के नाम से जाने जाते हैं।

जीपीएस सिस्टम का इस्तेमाल
द लॉजिकल इंडियन की खबर के मुताबिक, विजय बिना थके पेड़ों के उपचार में लगे हुए हैं। बता दें कि विजय ने अबतक 8 हजार पेड़ों को ठीक किया है औऱ बीमार पेड़ों को ढूंढने के लिए जीपीएस सिस्टम का इस्तेमाल करते हैं। जानकारी के मुताबिक विजय इस फ्लेगशिप कार्य को व्रुष्का डॉट कॉम के अंतर्गत करते हैं। गौरतलब है कि पर्यावरण संरक्षणवादी और पशु कार्यकर्त का मानना है कि पेड़ों का भी लोगों की तरह अच्छे से उपचार किया जा सकता है।
हाल ही बचाया जामुन का पेड़
विजय ने अपने अध्ययन के दौरान पाया कि कुछ असमाजिक लोग पेड़ों को काटने की जगह उनमें जहर डा़लकर खत्म कर रहे है। विजन ने यह भी कहा कि अगर इन्हे बाहर से देखो तो यह बिल्कुल सही लगते हैं लेकिन अंदर ही अंदर ये मर चुके होते हैं। बता दें कि विजय ने हाल ही में बंगलुरु में एक जामुन का पेड़ बचाया था। जानकारी के मुताबिक, पेड़ के मालिक ने अंधविश्वास के चलते पेड़ में जहर डाल दिया था।
ऐसे किया पेड़ों का उपचार
विजय ने बताया जब भी कोई जख्मी पेड़ के बारे मे पता चलता है वह उसके घावों को ठीक कर उसकी जड़ों में जहर फैलने से फिर से संरक्षित करता है। वहीं पेड़ में संक्रमण को रोकने के लिए एक नारंगी रंग के तेल से एक कृत्रिम लेयर बनाते हैं और इसी तरह महीने भर के पेड़ पहले की तरह स्वस्थ हो जाता है। वहीं विजय का कहना है कि प्राधिकरण को पेड़ों के लिए एक सेन्सस जारी करना चाहिए जिससे कि पेड़ो को खत्म होने से बचाया दा सके।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story