Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

असलियत में है रोबोट लेकिन दिखती है आम लड़की जैसी

ये लड़की कोई इंसान नहीं बल्कि एक रोबोट है जिसे कंप्यूटर लैब में तैयार किया गया है।

असलियत में है रोबोट लेकिन दिखती है आम लड़की जैसी
X
नई दिल्ली. आमतौर पर फिल्मी सितारे हमेशा चर्चा का विषय बने रहते हैं, लेकिन हाल ही में जापान की ये बच्ची भी किसी सिलेब्रिटी से कम नहीं है और काफी चर्चा बटोर रही हैं। आइए आपको इस बच्ची के वास्तविक जीवन से रू-ब-रू कराते हैं। अगर हम आपसे आपसे कहें कि यह आम लड़की की तरह दिखने वाली लड़की वास्तव में कोई इंसान नहीं है तो क्या आप यकीन करेंगे नहीं न। लेकिन यह वाकई सच है क्योंकि ये लड़की कोई इंसान नहीं बल्कि एक रोबोट है।
वैसे तो कंप्यूटर सारे काम कर सकता है लेकिन यह बेहद चौंकाने वाली बात है कि स्कूल ड्रेस और खूबसूरत बालों वाली इस मासूम को देखकर कोई नहीं कह सकता है कि वो सच में इंसान नहीं हैं। किसी आम लड़की की तरह दिखने वाली यह लड़की को जापान के एक कंप्यूटर लैब में तैयार किया गया है। इस डिजिटल बेटी का नाम साया है। जो भी साया को देखता चौंक जाता हर किसी के मुंह से सिर्फ एक ही बात निकलती कि इसे कहीं देखा है, लेकिन जो भी इसका सच जान जाता वह तारीफ किए बिना नही रह सकता।
यूका इशिकावा नाम की महिला आर्टिस्ट ने साया को लैब में तैयार किया है। यूका का कहना है कि वाकई साया को देखकर इस बात का अंदाजा तक नहीं लगाया जा सकता कि इसे कंप्यूटर लैब में तैयार किया गया है। लेकिन जब मैंने और मेरे पति ने मिलकर इसकी फोटोज को लोगों की बीच शेयर किया तब कहीं जाकर सभी को मालूम चला कि कंप्यूटर के डिजाइन से हर कुछ मुमकिन है। वाकई कंप्यूटर से बनी इस डिजिटल बेटी ने धमाल मचा दिया है।
यूका ने आगे बातचीत में बताया कि साया को एक परफेक्ट लुक देने के लिए मतलब उन्होने इसके एक एक हाव-भाव यानि इसे मानवीय टच देने के लिए छोटी से छोटी बातों पर ध्यान दिया है। यहां तक कि लोग इसे देखने के लिए बेहद उतावले हैं। यूका के मुताबिकक साया को बनाते वक्त खास बातों का ध्यान रखा गया जैसे उसके दिमाग में टोक्यो के शिबुआ इलाके में रहने वाली लड़कियां, और उसकी उम्र पर खासतौर ध्यान दिया गया जिससे साया केलव 17 साल की लगे।
दरअसल साया को तैयार करने के लिए पहले से कोई खास प्लानिंग नहीं थी। उसे एक शॉर्ट फिल्म के लिए बनाना था। लेकिन जब यूको और उनके पति को कुछ उम्मीदें दिखीं तो दोनों ने इसे बनाने के लिए अपनी नौकरी तक छोड़ दी और इसे बनाने में जुट गए। दरअसल दोनों इसे जापान में होने वाले कंज्यूमर इलेक्ट्रानिक एक्जीबिशन सीईएटीईसी में प्रदर्शित करने वाले हैं। आने वाले समय में यह उम्मीद की जा रही है कि इसे और बेहतर बनाया जाए, मतलब साया आम लड़कियों की तरह बात करे और ऐसा वक्त जल्द ही आएगा जब साया आम लोगों की तरह बात करेगी।
साभार- BBC
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को
फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story