Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मंदिर के पुजारी ने भगवान के नाम पर बनवा रखे थे राशन कार्ड

पुजारी ने कृष्ण, गणेश और दूसरे देवी-देवताओं के नाम राशन कार्ड पर लिखवा रखे थे।

मंदिर के पुजारी ने भगवान के नाम पर बनवा रखे थे राशन कार्ड
X
जयपुर. भगवान की पूजा करने के लिए मंदिरों में लोग पुजारी को रखते हैं। पुजारी को लोग हमारे समाज में इज्जत की नजर से देखते हैं और उसे प्रणाम करते हैं। लेकिन पुजारी ही अगर गलत काम करने लगे तो लोगों का उसपर से विश्वास उठने लग जाता है। ऐसा ही एक मामला सामने आया है राजस्थान के जयपुर शहर मे जहां एक मंदिर के पुजारी ने भगवान के नामों पर राशन कार्ड बनवा रखा था। यह पुजारी एक लंबे समय से भगवान के नाम पर राशन ले रहा था। चौंकाने वाली बात यह है कि इस मामले की किसी को खबर तक नहीं थी और उसने कृष्ण, गणेश और दूसरे देवी-देवताओं के नाम राशन कार्ड पर लिखवा रखे थे।
मामला राजस्थान के बारान जिले का
मामला राजस्थान के बारान जिले का है। डिस्ट्रिक सप्लाई ऑफिसर शंकर लाल मीणा ने बताया कि 70 वर्षीय बाबू लाल काजीखेर इलाके के एक मंदिर में पुजारी है और फर्जी नामों से राशन उठा रहा था। बाबू लाल का दावा है कि यह कार्ड उसे 2015 में इश्यू हुआ था।
फर्जी नामों वाले राशन कार्ड
इस फर्जी नामों वाले राशन कार्ड में मुरली मनोहर को घर का मुखिया दिखाया गया है, जिनकी उम्र 70 साल है। मुरली मनोहर, कृष्ण का ही एक नाम है। कार्ड में उनकी पत्नी के नाम की जगह ठकुरानी लिखा है, जिनकी उम्र 65 साल लिखी गई है। अधिकारियों ने अपना सिर तब पकड़ लिया जब उन्होंने मुरली मनोहर और ठकुरानी के बेटे के तौर पर 35 वर्षीय गणेश का नाम देखा।
बाबू लाल को नोटिस
इन बातों को देखते हुए फूड सप्लाई डिपार्टमेंट ने अपने अधिकारियों को इस बारे में सूचित किया। इसके बाद बाबू लाल को एक नोटिस भेजा गया और उससे उन सभी लोगों को हाजिर करने के लिए कहा गया, जिनके नाम पर वह सरकारी राशन की दुकान से राशन ले रहा था। अधिकारियों ने बताया कि बाबूलाल को पता भी नहीं था अब बायो-मैट्रिक मशीन लग गई है।
कार्ड में लिखे सभी नाम मंदिर के भगवानों के
बाद में बाबूलाल ने राशन कार्ड पर फर्जी नाम की बात स्वीकार ली और बताया कि कार्ड में लिखे सभी नाम मंदिर के भगवानों के हैं। कार्ड के जिस सेक्शन में पता लिखा होता है वहां पुजारी ने मंदिर का पता दे रखा था। यही बात खटकने वाली थी।
कार्ड को सीज कर दिया गया
फिलहाल कार्ड को सीज कर दिया गया है। अधिकारी यह पता करने की कोशिश कर रहे हैं कि वह अभी तक कितनी बार इस कार्ड से राशन ले चुका है। अधिकारियों का कहना है कि बहुत से लोग राशन कार्ड में फर्जी नाम लिखवा देते हैं लेकिन बायो-मैट्रिक मशीन लग जाने से अब ऐसा कर पाना संभव नहीं होगा।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को
फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story