Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

यहां के बच्चे खेलते हैं असली बंदूक से

अमेरिका के करीब 50 फीसदी बच्चे अपने घर में सुरक्षा की दृष्टि से रखी हुई बंदूक या पिस्तौल के साथ खेलते हैं

यहां के बच्चे खेलते हैं असली बंदूक से
X
न्यूयार्क. अमेरिका के करीब 50 फीसदी बच्चे अपने घर में सुरक्षा की दृष्टि से रखी हुई बंदूक या पिस्तौल के साथ खेलते हैं। अध्ययन के मुताबिक, ज्यादातर माता-पिता ने कहा कि वह इस बारे में बात करने के लिए तैयार हैं। लेकिन एक तिहाई माता-पिता जो बंदूकें रखते थे, वह इस बारे में पूछा जाना पसंद नहीं कर रहे थे और इस बात को अपने अपमान की तरह ले रहे थे। यहां तक कि उन्होंने बंदूकों को घर से हटाने की चिकित्सकों की सलाह को भी खारिज कर दिया।
वाशिंगटन यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ मेडिसिन के प्रोफेसर का कहना है, बंदूकों को लेकर माता-पिता और चिकित्सकों के बीच बातचीत होनी चाहिए। लेकिन ऐसा हो नहीं रहा है। चिकित्सकों को डर है कि अगर वह ऐसा करेंगे तो उनके मरीज भाग जाएंगे और कई राज्यों में चिकित्सकों को कानूनी प्रतिबंध का सामना करना पड़ता है।
माता-पिता ने स्वीकारा
शोधकर्ताओं ने शहरी, अर्धशहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले करीब 1,246 माता-पिताओं से बातचीत कर यह निष्कर्ष निकाला है। 36 फीसदी ने स्वीकार किया कि उनके घर में बंदूकें हैं और इनमें से एक तिहाई माता-पिताओं के पास एक से ज्यादा बंदूकें थीं। वहीं, 14 फीसदी माता-पिता जिनके पास बंदूकें नहीं थीं, उन्होंने स्वीकार किया कि उनके बच्चे नियमित रूप से उन रिश्तेदारों या मित्रों के घर अक्सर जाते रहते हैं, जिनके यहां बंदूकें होती हैं।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट
पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story