Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अावारा लड़कों से बचाव, कॉलेज ने लगा दिया लड़कियों पर ये बैन

लड़कियां सिर्फ साड़ी या फिर चूड़ीदार ही पहनें

अावारा लड़कों से बचाव, कॉलेज ने लगा दिया लड़कियों पर ये बैन
X
तिरुवंतपुरम. तिरुवंतपुरम गर्वनेंट मेडिकल कॉलेज ने लड़कियों को आवारा लड़कों से बचाने के लिए जींस, टी-शर्ट और लेगिंग पहनने पर बैन लगा दिया है। कॉलेज प्रशासन ने एमबीबीएस के स्टूडेंट्स को यह निर्देश जारी किया है कि वो कॉलेज परिसर में हर वक्त सफेद ओवरकोर्ट और गले में आइ कार्ड डालकर रहेंगे। मेडिकल कॉलेज के अधिकारियों का कहना है कि इस ड्रेस कोड का मकसद वॉर्ड में जाने वाले छात्रों को किसी भी तरह से संक्रमण से सुरक्षित रखना है। साथ ही लड़कियों को आवारा लड़कों और शोहदों से बचाना है।
छात्रों को जहां फॉर्मल कपड़े और जूते पहनने के लिए कहा गया है। वहीं, छात्राओं के लिए तो कई तरह के निर्देश जारी किए गए हैं। लड़कियां सिर्फ साड़ी या फिर चूड़ीदार ही पहनें। इतना ही नहीं बालों में किसी प्रकार का हेयरस्टाइल न हो, सिर्फ साधारण सा जूड़ा बनाएं। इसके अलावा भड़कीले जेवरों पर भी बैन लगा दिया गया है।
कॉलेज के वाइस प्रिंसिपल ने एक सर्कुलर जारी कर ड्रेस कोड के बारे में सूचित किया है। कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ थॉमस मैथ्यू का कहना है, 'कॉलेज में ड्रेस कोड कोई नई बात नहीं है। लेकिन सालों से स्टूडेंट्स इसका पालन नहीं कर रहे थे। अब हमने इसे अनिवार्य करने का फैसला किया है।'
मेडिकल कॉलेज के इस ड्रेस कोड का विरोध भी शुरू हो गया है। कॉन्फेडरेशन ऑफ मेडिकल कॉलेज डॉक्टर्स के संतोष कुमार का कहना है, 'संस्थान का अपना ड्रेस कोड हो सकता है। लेकिन इसमें काफी विसंगतियां है। जींस में क्या बुराई है? हमारे जैसे मल्टीकल्चरल देश में हमें विस्तृत होने की जरूरत है। अगर कोई ड्रेस कोड है भी तो उसे तर्कसंगत होना चाहिए।'
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story