Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

चर्च की ''पवित्र शराब'' पीने पर 80 कोड़े की सजा

चर्च की ''पवित्र शराब'' पीने पर शरिया अदालत ने 80 कोड़ों की सजा सुनाई।

चर्च की पवित्र शराब पीने पर 80 कोड़े की सजा
X
तेहरान. ईरान में एक बड़ा ही दर्दनाक और अजीब सा मामला सामने आया है। यहां एक व्यक्ति को महज शराब पीने के जुर्म में 80 कोड़ों की सजा सुनाई है। सजा भी ऐसी वैसी नहीं, उस व्यक्ति को सार्वजनिक तौर पर कोड़ों की सजा का सामना करना होगा।
शरिया अदालत ने 80 कोड़ों की सजा सुनाई
दरअसल मामला यह है कि ईरान में 3 ईसाई नागरिकों ने एक चर्च में रखी पवित्र शराब को पी लिया जिसके बाद उन्हें शरिया अदालत ने 80 कोड़ों की सजा सुनाई है। सभी पर आरोप है कि इन्होंने चर्च की पवित्र शराब पी। इन नागरिकों को मई में हाउस चर्च से गिरफ्तार किया गया था, लेकिन जमानत पर रिहाई के बाद इन्हें सार्वजनिक तौर पर 80 कोड़ों से मारा जाएगा। ये तीनों नागरिक पहले ही कई महीने जेल में काट चुके हैं। इन तीनों युवकों ने धर्म-परिवर्तन किया है।
शराब पीना गैरकानूनी नहीं
ईरान में ईसाई नागरिकों के लिए शराब पीना गैरकानूनी नहीं है, लेकिन शरिया कानून के तहत मुस्लिमों के शराब पीने पर पाबंदी है। साथ ही मुस्लिमों द्वारा धर्म-परिवर्तन को भी गैरकानूनी माना गया है। सुरक्षा अधिकारियों ने चर्च के पादरी के घर पर छापा मार, उन्हें और उनकी पत्नी को भी पकड़ा था, लेकिन उन्हें जेल नहीं भेजा गया।
फैसले के खिलाफ अपील
सजा पाने वाले तीनों नागरिक इस फैसले के खिलाफ अपील कर रहे हैं, लेकिन उनके ऊपर इससे भी ज्यादा संगीन आरोप है। तीनों पर राष्ट्रीय सुरक्षा के खिलाफ काम करने का आरोप है। पादरी पर भी यह आरोप लगाया गया है।
ईरान में कोड़े मारने की सजा आम
आपको बता दें ईरान में चौराहों पर कोड़े मारने की सजा काफी आम है। देश की कट्टर इस्लामिक विचारधारा के खिलाफ माने जाने वाले अपराधों के लिए यही सजा है। इनमें दूसरी औरत से संबंध रखना और शराब पीना जैसी चीजें शामिल हैं। सूत्रों के मुताबिक, तीनों आरोपियों में से एक युवक को इसी आरोप के तहत 2012 में भी कोड़ों की सजा मिल चुकी है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story