Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

नोट बदलने के लिए शादी के दिन 4 घंटे लाइन में खड़ा रहा दूल्हा

दूल्हे ने कहा कि लाइन में खड़े होने के अलावा उसके पास कोई विकल्प नहीं था।

नोट बदलने के लिए शादी के दिन 4 घंटे लाइन में खड़ा रहा दूल्हा
X
नई दिल्ली. 500 और 1000 के पुराने नोटों पर बैन के बाद लोग रोजाना घंटों लाइन में खड़े हो रहे हैं। पेशे से ऑटो ड्राइवर शोएब शेख की शादी नोट पर बैन के चार दिनों बाद थी। पुराने नोटों के बेकार हो जाने के चलते शोएब अपनी शादी के दिन 4 घंटे पैसे निकालने के लिए लाइन में लगे रहे। शोएब अहमदाबाद के शाहपुर के रहने वाले हैं।
आरबीआई हेडक्वार्टर पर लाइन में खड़े शोएब अन्य लोगों से बिल्कुल अलग नजर आ रहे थे। शादी होने के कारण शोएब के शरीर पर हल्दी लगी हुई थी। शोएब 4 घंटे लाइन में खड़े रहे। शाम को शोएब की शादी थी। चार घंटे लाइन में खड़े रहने के बाद शोएब को दोपहर 3 बजे पैसे मिल गए। आरबीआई हेडक्वार्टर के गेट 3.30 बजे बंद हो जाते हैं।
जनसत्ता की रिपोर्ट के मुताबिक, शोएब बताते हैं कि लाइन में खड़े होने के अलावा उनके पास कोई विकल्प नहीं था। वो कहते हैं कि वो कोई अमीर आदमी नहीं हैं और उनके पास कैश नहीं था। इसलिए लाइन में खड़े होकर नोट बदलने के अलावा उनके पास कोई अन्य विकल्प नहीं था।
पैसे निकालने के तुरंत बाद शोएब घर पहुंचे और शादी की तैयारियों के लिए डेकोरेटर को पैसे दिए। शोएब ने कहा कि उन्होंने कभी नहीं सोचा था कि उन्हें अपने पैसे निकालने के लिए इतनी मेहनत करनी पड़ेगी वो भी अपनी ही शादी के दिन। शोएब ने कहा कि अगर मुझे पैसे नहीं मिलते तो मेरी शादी नहीं हो पाती।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मंगलवार को घोषणा के बाद 500 और 1000 के 14 लाख करोड़ रुपए कीमत के नोटों को चलन से बाहर किया गया है। गौरतलब है कि सरकार ने शुक्रवार को बताया कि 500-1000 के नोट अब 14 नवंबर तक चलाए जा सकते हैं। ये नोट पेट्रोल पंप, बिजली दफ्तर, हॉस्पिटल में चलेंगे। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा 500 और 1000 के नोट बैन करने से भारतीय अर्थव्यवस्था को करीब 300 अरब रुपये का फायदा होगा।
इसके साथ ही महंगाई भी कम करने में मदद मिलेगी। मुंबई की एक ब्रोकरेज कंपनी एडेल्विज सिक्योरिटीज लिमिटेड ने अनुमान जाहिर किया है कि मोदी सरकार के इस कदम से 300 अरब रुपये (45 बिलियन डॉलर) सरकारी खजाने में आएंगे।
यह राशि टैक्स चुकाने के डर से अभी तक दबा कर रखी गई थी। आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज प्राइमरी डिलरशिप लिमिटेड को इससे भी ज्यादा धन आने की उम्मीद है। उसके अनुमानों के मुताबिक 460 अरब रुपये सरकारी खजाने में आएंगे।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story