Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कार मैकेनिक भाइयों ने सुधारी हेलिकॉप्टर की हालत

हेलीकॉप्टर को उड़ने लायक बनाने के बाद दोनों भाईयों ने खूब तारीफें बटोरी।

कार मैकेनिक भाइयों ने सुधारी हेलिकॉप्टर की हालत
X
नई दिल्ली. अक्सर देखा जाता है कि आप जिस काम में माहिर होते हैं उसे बड़ी ही क्रिएटीविटी के साथ करते हैं। लेकिन जरा सोचिए अगर आप एक छोटे से मेकैनिक है और हम आपसे हवाई जहाज को ठीक करने के लिए कहें तो क्या आप इस काम को कर पाएंगे। नहीं ना- क्योंकि इस काम को करने से पहले कई तरह की पढ़ाई करनी होती है। लेकिन इस बात को हकीकत में बदला कोल्हापुर के दो भाईयों ने जो पेशे से मकेनिक हैं। इन दोनों भाईयों ने एक ऐसा कारनामा कर दिखाया जिसे देखकर सभी दंग हैं।
कहां कार और कहां हेलिकॉप्टर, दोनों के बीच जमीन और आसमान का फर्क है। कार और हेलीकॉप्टर दोनों को बनाने का तरीका बेहद अलग है। दोनों के पुर्जे भी काफी अलग है। ऐसे में क्या आप सोच सकते हैं कि एक कार बनाने करने वाला मकैनिक हेलिकॉप्टर की मरम्मत कर सकता है? यकीनन आपका जवाब न ही होगा। लेकिन आपको बता दें कि इम्तियाज मोमिन और उनके भाई यूसुफ दोनों ही कार मकैनिक हैं। कार मैकेनिक होने के बावजूद उन्होंने एक खराब पड़े हुए हेलिकॉप्टर की अच्छी खासी मरम्मत कर डाली। उन्होने सिर्फ इसका ढ़ाचा ही ठीक ही नहीं किया बल्कि इस उजड़े हुए हेलीकॉप्टर को उड़ने लायक भी बना दिया।
दरअसल, शुक्रवार को हेलिकॉप्टर से कुछ लोग डॉ डीवाई पाटिल एजुकेशन ग्रुप के चेयरमैन संजय पाटिल से मिलने के लिए कोल्हापुर आए थे। आने के बाद उन्हें पता चला कि जिस हेलीकॉप्टर से वे आए हैं उसमें कुछ तकनीकी परेशानी है। अब दिक्कत उस वक्त हुई जब कोल्हापुर में ऐसा कोई मकैनिक नहीं है जो हेलिकॉप्टर ठीक कर सके। उसके बाद ही ये दोनों भाईयों ने इसे ठीक करने के बारे में सोचा, लेकिन चौंकाने वाली बात ये है उन्होने पहले कभी भी हेलिकॉप्टर को देखा तक नहीं था।
जब दोनों ने हेलिकॉप्टर को देखा तो पहले तो काफी वक्त तक हेलिकॉप्टर का नजदीक से देखा और कुछ देर तक निरिक्षण करते रहे। काफी वक्त तक परखने के बाद उन्हे पता चला कि हेलिकॉप्टर में इलेक्ट्रिकल फॉल्ट है और इसी फॉल्ट की वजह से इंजन पर पावर सप्लाई ठीक से नहीं हो पा रही है। दोनों ने मकैनिक ने अपनी दिमाग से ठीक करना शुरू किया और हेलिकॉप्टर को पूरी तरह से ठीक कर दिया। और कुछ देर बनाने के बाद ही हेलिकॉप्टर के पंखुड़ियां घूमना शुरू कर दी। इसका मतलब हेलिकॉप्टर ने उड़ान बेहद आसानी से भर ली। दोनो भाईयों की इस काबिलेतारीफ काम के लिए संजय पाटिल और इम्तियाज और यूसुफ की जमकर तारीफ की। हालांकि इससे पहले भी इम्तियाज ने पानी में चलने वाली कार बनाई थी।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story