Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

17 बच्चों के बाद इस जोड़े न कहा- अब बस

17 बच्चों में से 16 लड़कियां हैं

17 बच्चों के बाद इस जोड़े न कहा- अब बस
X
अहमदाबाद. गुजरात के दाहूद जिले में एक आदिवासी दंपति 17 बच्चे होने के बाद नसबंदी करवाई है। इन 17 में से 16 लड़कियां हैं। हम दो हमारे हमारे 17, 18 भी हो सकते थे अगर गांव वाले इन दोनों को समझा बुझा कर इनकी नसबंदी न करवाते तो। गांव वालों के लाख समझाने पर ये दोनों परिवार नियोजन के लिए राजी हुए।
17 बच्चे करने वाले शख्स का नाम रमसिन है। टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक, 44 साल के रमसिन ने फोन पर बताया कि अब उसने अपनी पत्नी कन्नू संगोट की नसबंदी करवा दी है। रमसिन ने माना कि उनका परिवार लड़के की चाहत में बड़ा होता गया। कन्नू ने 16वीं लड़की को 2015 के सितंबर में जन्म दिया था। रमसिन को अपने बच्चों के जन्मदिन भी याद नहीं रहते। वहीं 17वें बच्चे के तो उन लोगों ने अबतक नामकरण भी नहीं किया है।
दूसरे लड़के की चाह में हुए और लड़के: रमसिन को उनका इकलौता लड़का 2013 में हुआ था। उसका नाम विजय है। दोनों ने सोचा कि एक और लड़का होना चाहिए। उसकी वजह से और लड़कियां हो गईं। रमसिन ने बताया कि पहले उसकी पत्नी और वह चाहते थे कि उनकी देखरेख के लिए एक लड़का होना चाहिए। लेकिन इतनी लड़कियां होने के बाद उन्हें लगा कि लड़कियों की देखभाल के लिए कम से कम दो लड़के होने चाहिए।
रमसिन एक मिट्टी के घर में रहते हैं। वह दो बीघा जमीन में मक्का और गेहूं की खेती करते हैं। गांववालों के काफी मनाने पर रमसिन ने अपनी बीवी को नसबंदी के लिए राजी किया। गांववालों ने समझाया था कि आने वाले वक्त में पढ़ाई तो दूर उसके लिए सभी बच्चों को पालना भी मुश्किल हो जाएगा। रमसिन की 16 लड़कियों में से दो की मौत हो चुकी है। वहीं दो की उसने शादी कर दी है। बाकी दो को उसने काम करने के लिए राजकोट भेज रखा है। उसकी पत्नी भी ज्यादा कमाने के उद्देश्य से उसके साथ लगी रहती है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story