Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

डॉक्टरों की लापरवाही से 26 महिलाएं बनीं मां, जानें कैसे

अस्पताल में इलाज कराने आईं 26 महिलाएं एक साथ गर्भवती हो गईं।

डॉक्टरों की लापरवाही से 26 महिलाएं बनीं मां, जानें कैसे
X
नई दिल्ली. जब भी बच्चा पैदा होता है तो मां उसे उसके पिता का नाम बताती है कि ये हैं तेरे पिता। लेकिन नीदरलैंड में एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है। नीदरलैंड में डॉक्टरों की लापरवाही की वजह से 26 महिलाओं के साथ बड़ा धोखा हो गया। नीदरलैंड के एक आइवीएफ सेंटर ने ऐसा कहा है कि हो सकता है कि उनके पास इलाज कराने आईं 26 महिलाएं गलत पुरुषों के शुक्राणु से गर्भवती हुई हैं।
गार्जियन की रिपोर्ट के मुताबिक, नीदरलैंड के एक आइवीएफ (IVF) ट्रीटमेंट सेंटर में इलाज करवा रहीं दर्जन भर से ज्यादा महिलाएं अपने पति नहीं बल्कि किसी और व्यक्ति के स्पर्म से प्रेग्नेंट हो गईं। हैरानी की बात तो ये हैं कि महिलाओं को इसके बारे में तब पता चला जब उनमें से कई महिलाएं मां बन चुकी है और कुछ बनने वाली हैं। दरअसल फर्टिलाइजेशन के दौरान, एक कपल के स्पर्म सेल्स बाकी 26 कपल्स के एग सेल्स से मिल गए। इसलिए ट्रीटमेंट सेंटर को इस बात की आशंका हुई कि ये एग सेल्स किसी अन्य पुरुष के स्पर्म से फर्टिलाइज हो गए हों। मेडिकल सेंटर ने कहा कि इसकी आशंका बेहद कम है लेकिन इससे इनकार नहीं किया जा सकता है।
तो वहीं दूसरी तरफ यूट्रैक्ट यूनिवर्सिटी मेडिकल सेंटर ने गलती मानी और कहा कि उनकी इस गलती की वजह से अप्रैल 2015 से नवंबर 2016 के बीच इलाज कराने वाली महिलाएं प्रभावित हुई हैं। आपको बता दें कि इस दौरान वहां 26 महिलाओं ने अपना आईवीएफ ट्रीटमेंट करवाया। जिसमें से कई महिलाएं बच्चे पैदा कर चुकी है और बाकी की अभी गर्भवती है। आपको बता दें कि इसी तरह की गलती की वजह से साल 2012 में सिंगापुर में एक महिला ने ट्रीटमेंट सेंटर पर केस कर दिया था।

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story