Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

वीडियो: वजन घटाने के लिए बच्चे के पेट पर लगा दी आग

इस प्राचीन थैरेपी के तहत 146 किलो के बच्चे की पेट पर आग लगाई गई।

वीडियो: वजन घटाने के लिए बच्चे के पेट पर लगा दी आग
X
नई दिल्ली. मोटोपो से किसे परेशानी नहीं होती है। मोटापा ऐसी बीमारी है, जिससे सभी परेशान होते हैं। थोड़ा सा वजन क्या बढ़ जाए लोग उसे कम करने के लिए कोई भी तरीका अपनाने को तैयार हो जाते हैं। वजन घटाने के लिए एक चीनी इलाज का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। चीन में मोटापे से परेशान एक बच्चे का वजन घटाने के लिए उसके पेट पर आग लगाकर उसका इलाज किया गया। आपको बता दें कि ये चीन का पारंपरिक चिकित्सा का तरीका है। इस प्राचीन थैरेपी के तहत उसके पेट में आग लगाई गई।
दरअसल चीन में रहने वाले 11 साल के बच्चे को बढ़ते वजन की वजह से पारंपरिक चिकित्सा से गुजरना पड़ा। इस थैरेपी के तहत उसके पेट में आग लगाई गई। ली हांग नामक इस बच्चे का वजन 146 किलो है। उसे अपने वजन को कम करने के लिए काफी दर्द से गुजरना पड़ा।
एक अंग्रेजी वेबसाइट में छपी खबर के अनुसार, ली हांग की इस थैरेपी की कुछ तस्वीरें वायरल हुई हैँ। इन तस्वीरों को देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है कि वजन कम करने के लिए ली हांग को काफी दर्द का सामना करना पड़ रहा है। एक तस्वीर में डॉक्टर उसके पेट पर तौलिया रखकर आग लगा रही है। सोशल मीडिया पर इसकी वीडियो खूब वायरल हो रही है।
वीडियो में देखा जा सकता है कि डॉक्टर उसके पेट पर तौलिया रखकर आग लगा रही है। रिपोर्ट के मुताबिक चीन के चांगचुन कांगड़ा नामक अस्पताल में इसी तरीके से मोटापे का इलाज किया जाता है। ली हांग जब 3 साल का था, तभी से उसका वजन बढ़ने लगा, जो बढ़कर 147 किलो तक पहुंच गया, जिस के बाद उसे ईलाज के लिए इस अस्पताल में भर्ती कराया गया।
बता दें कि चांगचुन शहर में स्थित चांगचुन कांगड़ा अस्पताल अपने मरीजों को तरह तरह की मेडिकल सेवाएं देता है। स्लिमिंग उपचार में विशेषज्ञ चांगचुन कांगडा अस्पताल अपने रोगियों को विभिन्न चीनी मेडिसिन प्रैक्टिस देता है। इस अस्पताल में आने वाले मोटापे से ग्रस्त 53 लोगों में तकरीबन सात बच्चे होते हैँ। ली हांग तीन साल की उम्र से ही लगातार बढ़ते वजन की समस्या से जूझ रहा है। हार्बिन शहर के रहने वाले ली का वजन चार साल की उम्र में 42 किलो था, जो उसकी उम्र के बच्चों की तुलना में 2.5 गुना अधिक था।
चीन में मोटापे से ग्रस्त बच्चों की संख्या लगातार बढ़ रही है। अंदाजा लगाया जा रहा है कि 2025 तक यह संख्या वर्तमान समय से काफी ज्यादा हो जाएगी। वहीं, विश्व ओबेसिटी फेडरेशन की ओर से जारी हुई एक रिपोर्ट में बताया गया है कि 4.85 करोड़ बच्चे मोटापे से ग्रस्त हैं। यह अजीबो-गरीब उपचार चीन के पूर्वोत्तर प्रांत जिलिन बच्चे को दिया जा रहा है।
मोटापे के इलाज का यह तरीका थोड़ा अजीब है लेकिन सकिन मानिए इससे पहले इसे आपने कहीं नहीं देखी होगी।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story