Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

इस ऐप से पलक झपकते ही पढ़ें पूरी किताब

इस ऐप को दुनिया भर में 10 लाख से ज़्यादा लोग इस्तेमाल कर रहे हैं।

इस ऐप से पलक झपकते ही पढ़ें पूरी किताब
X

वर्तमान समय की भाग दौड़ भरी जिंदगी में समय नहीं मिलने के कारण लोगों ने किताबें पढ़ना छोड़ दिया है। कई बार लोग किताबे पढ़ने का मन बनाते हैं लेकिन किताबें इतनी लंबी होती हैं कि एक बार में उन्हें पढ़ना मुमकिन नहीं होता, तो कई बार एकाग्रता नहीं बन पाती, कई बार ये दोनों कारण हावी रहते हैं।

लेकिन जहां इंसान की क्षमता खत्म होती है, वहां टेक्नोलॉजी मदद के लिए आगे आ जाती है। अब बहुत सारे ऐसे एप मौजूद हैं जिनकी मदद से आप बड़ी से बड़ी किताबों को भी 15 मिनट में आसानी से पढ़ सकते हैं।

पलक झपकते ही पढ़ें पूरी किताब

बीबीसी के मुताबिक, ऐप ब्लिंकिस्ट के सह-संस्थापक निकोलस जैन्सन बताया कि जब कॉलेज खत्म करने के बाद हमने काम करना शुरू किया तो किताबें पढ़ने और सीखने के लिए समय नहीं मिल पाता था।

इसे भी पढ़ें- गौर से पढ़िए सच है, ये बकरा हर रोज देता है डेढ़ पाव दूध

इसी समय उन्हें एहसास हुआ कि हम और बाकी लोग अधिक से अधिक समय स्मार्टफोन का प्रयोग करने में लगा रहे हैं। इसी को ध्यान में रखकर एक विचार क्यों न किताबों को सेलफोन में समेट दिया जाए।

यहीं से ब्लिंकिस्ट की शुरुआत हुई। किताबें पढ़ने के लिए ऐप ब्लिंकिस्ट को 2012 में जर्मनी के बर्लिन में बनाया गया था। आज ये इस ऐप दुनिया भर में 10 लाख से ज़्यादा लोग इसे इस्तेमाल कर रहे हैं। इसमें किताबों को ब्लिंक्स 'पलक झपकने के अंतराल में लगने वाले समय' में बांटा गया है।

इसे भी पढ़ें- रोबोट ने पानी में कूदकर की आत्महत्या, वजह जानकर रह जाएंगे हैरान

एंड्रॉयड और आईओएस के लिए उपलब्ध यह ऐप 18 विभिन्न श्रेणियों में बांटी गई 2000 से ज़्यादा किताबों को संक्षिप्त रूप में पेश करता है, जिन्हें 15 मिनट में पढ़ा जा सकता है।

अंग्रेज़ी अख़बार द गार्डियन की पत्रकार डिएन शिपली एक स्तंभ में लिखती हैं, इस तरह के ऐप ठीक हो सकते हैं मगर उपन्यासों को लेकर ये फिट नहीं बैठते है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story