Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

ये है अब तक की सबसे जबरदस्त रिसर्च, जानिए क्या है ये

इस शोध में 6,000 से ज्यादा लोगों पर सर्वेक्षण किया गया है।

ये है अब तक की सबसे जबरदस्त रिसर्च, जानिए क्या है ये
X

मानव जीवन से संबंधित एक नए शोध में किए गए दावे ने उस पुरानी कहावत पर सवाल खड़े कर दिए हैं जिसमें कहा जाता है कि धन से खुशियां नहीं खरीदी जा सकती। जी हां इस शोध के मुताबिक पैसे के बल पर खाली समय खरीदकर आप सूख की अनुभूति कर सकते हैं। आप घरेलू काम के लिए या किसी और चीज के लिए किसी को भुगतान कर अपना समय बचा लेते हैं तो यह आपके जीवन की संतुष्टि को बढ़ा सकता है।

इसे भी पढ़ें: नासा के मैप में चीन से ज्यादा चमकदार है भारत

अमेरिका स्थित हार्वर्ड बिजनेस स्कूल के सहायक प्रोफेसर एशले व्हीलांस ने कहा, ‘जो लोग घर साफ करने वाले की सेवाएं लेते हैं या लॉन की घास काटने के लिए किसी को भुगतान करते हैं तो हो सकता है कि ऐसा लगे कि आप आलसी होते जा रहे हैं लेकिन हमारे शोध के परिणाम बताते हैं कि समय बचाने से उसी प्रकार की खुशी मिलती है जैसे ज्यादा पैसे होने से मिलती है।'

इस शोध में अमेरिका, डेनमार्क, कनाडा और नीदरलैंड में 6,000 से ज्यादा वयस्क लोगों पर सर्वेक्षण किया गया। इसमें उत्तरदाताओं से पूछा गया कि प्रत्येक महीने अपने लिए खाली समय निकालने के लिए वे कितना खर्च करते हैं। उन्होंने जीवन की संतुष्टि का मूल्यांकन भी किया और तनाव के समय में उत्पन्न होने वाली भावनाओं को लेकर पूछे गए सवालों के जवाब दिए।

इसे भी पढ़ें: अद्भुत: आबादी के नाम पर यहां बचा है सिर्फ एक इंसान

समय की बचत करने वाली वस्तुओं पर पैसा खर्च करने को उत्तरदाताओं ने जीवन में अधिक संतुष्टि मिलने से जोड़ा। यहां तक कि आय पर नियंत्रण के बाद भी इसका प्रभाव देखने को मिला।

कनाडा स्थित यूनिवर्सिटी ऑफ ब्रिटिश कोलंबिया की प्रोफेसर एलिजाबेथ डन ने कहा, ‘ ऐसा नहीं है कि समय की बचत का लाभ केवल अमीर लोगों को ही मिलता हो। हमने सोचा था कि इसका प्रभााव सिर्फ डिस्पोजेबल आय वाले धनाड्य व्यक्तियों पर ही हो सकता है, लेकिन हमें हैरत हुई जब हमने पाया कि सभी आय वर्ग वाले लोगों पर इसका प्रभाव पड़ता है।'

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story