Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

बच्चे को जन्म देते ही मां को पानी से लगने लगा डर, बच्चे को निहलाने के लिए भी लेती है रिश्तेदारों की मदद

महिला के मां बनने के बाद शरीर में बहुत से बदलाव होते हैं। कुछ थॉइराइड और डायबिटीज जैसी बीमारी भी हो जाती है, लेकिन कार्डिफ़ वेल्स की इस महिला को बच्चे के जन्म के बाद पानी से एलर्जी की ऐसी समस्या हुई कि उसे पानी में हाथ डालने से भी डर लगने लगा।

बच्चे को जन्म देते ही मां को पानी से लगने लगा डर, बच्चे को निहलाने के लिए भी लेती है रिश्तेदारों की मदद

महिला के गर्भवती से होने से लेकर बच्चे को जन्म देकर मां बनने पर बहुत से बदलाव होते हैं। ये बदलाव उसके वीचार और जीवन से लेकर शरीर में भी होते है। मां बनने के बाद कुछ महिलाओं को डायबिटीज तो कुछ थॉयराइड और अन्य छोटी मोटी समस्या हो जाती है, लेकिन कार्डिफ वेल्स में बच्चे को जन्म देकर मां बनी एक महिला के स्वास्थ्य में ऐसा बदलावा हुआ कि उसे पानी से ही डर लगने लगा। वह पानी को देखकर ही सहम सी जाने लगी। इसकी वजह उसे पानी से नहाने से लेकर हाथ डालने पर भी एलर्जी हो जाना है।

दरअसल कार्डिफ़ वेल्स की रहने वाली 26 वर्षीय चेरेल फ़ारूगिया कुछ समय पहले ही मां बनी थी। बच्चे को जन्म देने के बाद कार्डिफ वेल्स को पानी से ऐलर्जी हो गई। पानी में हाथ डालते ही उन्हें बहुत ही दर्दनाक खुजली और स्कीन पर लाल चकत्ते पड़ने लगे। चेरेल के शरीर पर ये एलर्जी सबसे ज्यादा छाती, पीठ और हाथों के ऊपरी हिस्से में होती है। मीडिया रिपोर्ग्स के अनुसार चेरेल को मां बनने से पहले ऐसी कोई समस्या नहीं थी। उन्हें पानी में घंटों तक रहना पसंद था। वह उसमें भी बिना किसी समस्या के रहती भी थी, लेकिन बेटी को जन्म देने के बाद चेरेल को पानी एलर्जी शुरू हो गई।

इस बीमारी से ग्रसित हो गई चेरेल

जिस बीमारी से चेरेल ग्रसित है। उसे एक्वाजेनिक अर्टिकेरिया कहा जाता है। इस एलर्जी में किसी भी रूप में पानी के संपर्क में आने से स्किन पर खुजली होने लगती है। इसके साथ ही त्वचा पर लाल चेचक पड़ जाते है। चेरेल ने अपनी इस बीमारी के बारे में खुद को एक इटरव्यू में बताया था कि उनको यह समस्या बेटी के जन्म के बाद हुई। अब उन्हें पानी डालते ही जो एलर्जी होती है। उसमें कांटे की तरह चुभन होती है। इसके बाद दाने लोने लगते है। इतना ही नहीं सबसे ज्यादा एलर्जी उन्हें पेट, कंधे और पीठ के साथ चेहरे को भी इफेक्ट करती है।

बच्चे को नहलाने के लिए भी लेना पडता है रिश्तेदार का सहारा

एलर्जी की ऐसी स्थिति में चेरेल अपनी बच्ची को भी नहला नहीं सकती। इसके लिए वे अपने पति या रिश्तेदारों की मदद लेती है। इसकी वजह पानी में हाथ डालते ही उन्हें समस्या शुरू हो जाना है। अपनी इस बीमारी से परेशान चेरेल डिप्रेशन में भी चली गई थी। हालांकि रिकवरी के बाद वह इस समस्या पर किताब लिखने की ट्रेनिंग ले रही हैं और सलाहकार बनने की कोशिश कर रही हैं।

Next Story
Top