logo
Breaking

बारूद लगाकर किया जंगली सुअर का शिकार, और फिर...

छत्तीसगढ़ के धमतरी में ताबीज और जड़ी-बूटी बेचने वाले देवारों ने अपने काम के लिए मादा जंगली सुअर का शिकार किया।

बारूद लगाकर किया जंगली सुअर का शिकार, और फिर...

छत्तीसगढ़ के धमतरी में ताबीज और जड़ी-बूटी बेचने वाले देवारों ने अपने काम के लिए मादा जंगली सुअर का शिकार किया। 30 किग्रा वजनी इस सुअर को बोरे में भरकर वे जंगल से लौट रहे थे। इसी दौरान कुछ ग्रामीणों की नजर उन पर पड़ गई।

नहर में मृत सुअर को छोड़कर वे भाग गए। इस मामले वन विभाग ने दो महिलाओं को पकड़ा। पुरूष भाग निकले। मामला बिरगुड़ी वन परिक्षेत्र के अंतर्गत ग्राम घठुला पांवद्वार नहर के पास की है।

रविवार को सुबह 9 बजे जंगल की ओर से कुछ लोग बाइक से जंगली सुअर को बोरे में भरकर आ रहे थे। इसी दौरान ग्रामीणों की नजर उन पर पड़ गई। ग्रामीणों को देखकर शिकारी भाग निकले और मृत सुअर को वहीं छोड़ दिया।

ग्रामीणों ने पास जाकर देखा तो सुअर के मुंह में गंभीर चोट लगी थी। पैरों में भी चोट के निशान थे। इस मामले में धमतरी वन मंडल और रिजर्व फारेस्ट के अधिकारियों ने जांच शुरू कर दी। उन्होंने गांव-गांव घूमकर जड़ी-बूटी बेचने वाली दो महिलाओं को पकड़ा है। उनसे पूछताछ की जा रही है।

हाईटेक है तरीका

जड़ी बेचने वाले ये लोग शिकार के लिए हाइटेक तकनीक का उपयोग करते हैं। इनके पास छोटा बम जैसा सामान उपलब्ध होता है, जिसमें बारूद भरा होता है। इसे वे खाने में छिपाकर रख देते हैं। जब जंगली जीव खाने को चबाता है, तो बारूद फट जाता है। मुंह में बारूद फटने से वन्यजीव की मौत हो जाती है।

Share it
Top