Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

ऑफिस लेट आने पर यूपी वाले बनाते हैं ये बहाने, पढ़कर नहीं रुकेगी हंसी

दफ्तर पहुंचने में देरी अक्सर हो जाती है, कई बार मजबूरी भी होती है। लेकिन अगर यह रोज होने लगे तो साफ है कि जान बूझकर लेट लतीफी की जा रही है। यही कुछ हाल है उत्तर प्रदेश के ज्यादातर कर्मचारियों का जो लेट तो आते ही हैं स्पष्टीकरण में भी कुछ ऐसी वजह बताते हैं कि हंसी आ जाए।

ऑफिस लेट आने पर यूपी वाले बनाते हैं ये बहाने, पढ़कर नहीं रुकेगी हंसी
X

दफ्तर पहुंचने में देरी अक्सर हो जाती है, कई बार मजबूरी भी होती है। लेकिन अगर यह रोज होने लगे तो साफ है कि जान बूझकर लेट लतीफी की जा रही है। यही कुछ हाल है उत्तर प्रदेश के ज्यादातर कर्मचारियों का जो लेट तो आते ही हैं स्पष्टीकरण में भी कुछ ऐसी वजह बताते हैं कि हंसी आ जाए।

उत्तर प्रदेश के चित्रकूट जिले में डिप्टी कमिश्नर वाणिज्य कर के दफ्तर में काम करने वाले एक कर्मचारी ने ऑफिस देरी से पहुंचने पर अपना लिखित स्पष्टीकरण दिया है। इस कर्मचारी ने लेट आने के पीछे अपनी पत्नी की सेवा में लगा रहना बताया है।

कर्मचारी की लिखित स्पष्टीकरण को पढ़ अधिकारी भी हक्के-बक्के रह गए। कर्मचारी ने लिखा, साहब पत्नी की तबीयत खराब रहती है। उसका शरीर दर्द करता है तो हाथ पैर भी दबाने पड़ते हैं। इसलिए खाना मुझे ही बनाना पड़ता है। रोटी बनाना सीख रहा हूं।

कभी-कभी रोटियां जल जाती हैं। जिस पर पत्नी नाराज होती है। आज-कल मैं दलिया बनाकर खा रहा हूं। मेरे इलाके की सड़कों पर बहुत गड्ढे हैं। कभी इनके कारण तो कभी जाम के कारण ऑफिस देरी से पहुंचता हूं।

इस सफाई पर अधिकारी के माथे पर बल पड़ गए तो उन्होने सख्ती और एक्शन करने के बजाय मानवीय रुख अपनाने का फैसला लिया। स्पष्टीकरण में कर्मचारी ने अपने अधिकारी से अनुरोध किया है,

सुबह वह पत्नी की सेवा जल्दी करके कार्यालय के लिए निकलेगा। बाकी आप खुद समझदार हैं। अधिकारी ने कर्मचारी पर दया तो दिखाई है लेकिन देर से आने वाले कर्मचारियों की फेहरिस्त यूपी में बेहद लंबी है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story