Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

गजब: अंतरिक्ष के छोर पर महसूस हुए थे सेकंड वर्ल्ड वॉर के बम विस्फोट के झटके

द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान जो बमबारी हुई थी, उनसे न सिर्फ जमीन पर तबाही हुई थी बल्कि उसके झटके पृश्वी के वायुमंडल से होकर भी गुजरे थे और वे अंतरिक्ष के छोर पर भी महसूस किए गए थे।

गजब: अंतरिक्ष के छोर पर महसूस हुए थे सेकंड वर्ल्ड वॉर के बम विस्फोट के झटके
X

द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान मित्र राष्ट्रों ने जो बमबारी की थी, उनसे न सिर्फ जमीन पर तबाही हुई थी बल्कि उसके झटके पृश्वी के वायुमंडल से होकर भी गुजरे थे और वे अंतरिक्ष के छोर पर भी महसूस किए गए थे।

ब्रिटेन के यूनिवर्सिटी ऑफ रीडिंग के शोधार्थियों ने खुलासा किया है कि मित्र राष्ट्र की सेनाओं द्वारा यूरोपीय शहरों पर गिराए गए बम के झटके इतने जोरदार थे कि आयनमंडल कमजोर पड़ गया।

वैज्ञानिक ‘एनालेज जियोफिजिकाई' पत्रिका में प्रकाशित अध्ययन में पाए गए तथ्यों का इस्तेमाल यह समझने के लिए कर रहे हैं कि पृथ्वी पर वज्रपात, ज्वालामुखी विस्फोट और भूकंप जैसी प्राकृतिक आपदाएं किस तरह उसके ऊपरी वायुमंडल को प्रभावित करती हैं।

इसे भी पढ़ें- गजब! यहां बिराजते हैं 3D गणपति जी, ऐसे होती है पूजा

विश्वविद्यालय के प्रोफेसर क्रिस स्कॉट ने कहा कि पृथ्वी के वायुमंडल में इन बम विस्फोटों के असर के बारे में अब तक पता नहीं चला था।

उन्होंने कहा कि यह हैरान करने वाला है कि बम विस्फोट के झटके किस तरह से अंतरिक्ष को को प्रभावित करते हैं। हर विस्फोट के साथ कम से कम 300 वज्रपातों की ऊर्जा निकली। इनसे पता चलता है कि पृथ्वी की सतह पर होने वाली घटनाएं आयनमंडल को भी प्रभावित कर सकती हैं।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story