Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

रक्षाबंधनः इस गांव में अनहोनी की डर नहीं मनता राखी का त्योहार, जानिए वजह

इस गांव के लोग अपशकुन होने के डर से नहीं मनात हैं राखी का त्योहार।

रक्षाबंधनः इस गांव में अनहोनी की डर नहीं मनता राखी का त्योहार, जानिए वजह
X

आज पूरे देश में राखी का त्योहार हर्सोउल्लास के साथ मनाया जा रहा है। लेकिन अपने देश में एक ऐसा गांव भी है जहां लोग अनहोनी के डर की वजह से अपने भाई के कलाई पर राखी नहीं बांधने से डरते हैं।

उत्तर प्रदेश में गाजियाबाद जिले में स्थित मुरादनगर के सुराणा गांव में लड़कियां अपने भाई के हाथों पर राखी अपशकुन होने की डर से नहीं बांधती है।

इसे भी पढ़ें:- देशभर में मनाया जा रहा है रक्षाबंधन, राखी बांधने के लिए सिर्फ चंद घंटों का समय

दरअसल सुराना गांव के निवासियों ने बताया कि 12वीं शताब्दी में श्रावण मास की पूर्णिमा के ही दिन जब गांव के सभी लोग राखी का त्योहार मना रहे थे तभी मुगल शासक मोहम्मद गौरी ने गांव पर आक्रमण कर दिया था।

मोहम्मद गौरी की सेना ने गांव के सारे लोगों को मार दिया था। लेकिन इस कत्लेआम में गांव में सिर्फ एक महिला और उसके दो बेटे जीवित बच गए थे।

कुछ साल बाद महिला और उसके बेटों ने फिर से उस गांव को बसाया, जिसमें गांव को बसाने में उनकी मदद 100 राणा परिवारों ने की थी। और तभी से इस गांव का नाम सुराना पड़ गया था, जबकि इस गांव का वास्तविक नाम सोहनगढ़ था।

इसे भी पढ़ें:- 9 साल बाद बना है रक्षाबंधन पर योग, जानिए पूरे दिनभर का मुहूर्त

वहीं गांव वालों ने बताया कि जब भी किसी परिवार ने राखी का त्योहार मनाने की कोशिश की है, तो उसके घर में कुछ न कुछ अनहोनी हो ही जाती है। इसी वजह से इस गांव के लोग भाई-बहनों का त्योहार राखी नहीं मनाते हैं।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story