Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

ये शख्स 17 साल की उम्र से नसों में भर रहा है सांप का जहर, वजह जान हैरान रह जाएंगे

कैलिफोर्निया में एक शख्स का खुद को सांपों के जहर का इंजेक्शन देता है।

ये शख्स 17 साल की उम्र से नसों में भर रहा है सांप का जहर, वजह जान हैरान रह जाएंगे
X

कैलिफोर्निया में एक शख्स का खुद को सांपों के जहर का इंजेक्शन देता है। इस शख्स का नाम स्टीव लुडविन है, जोकि पिछले 30 सालों से सांप का जहर ले रहा है। स्टीव ने सांपों को जहर लेना महज 17 साल की उम्र से शुरू कर दिया था जो आज तक जारी है।

जवान दिखने के लिए इंजेक्ट करते हैं जहर

स्टीव कहते हैं कि वो जवान और फिट दिखने के लिए सांप के जहर को अपनी नसों में इंजेक्ट करते हैं। इतना ही नहीं उनका कहना है कि वो कम उम्र से ही सांपों के बारे में पढ़ रहे हैं। स्टीव के पास 18 सांप हैं, जिनका जहर निकालकर वह इंजेक्ट करते हैं। स्टीव कहते हैं कि यह एक दर्दनाक प्रक्रिया है लेकिन इससे सांप को कोई नुकसान नहीं पहुंचता है।

यह भी पढ़ें- Video: ये पुलिस है भारत का 'माइकल जैक्सन', ट्रैफिक कंट्रोल के लिए करता है मूनवॉक

6 साल की उम्र में काटा था सांप ने

डेली मेल की एक रिपोर्ट के मुताबिक, स्टीव ने बताया कि 6 साल की उम्र में उन्हें एक गेटर सांप ने काट लिया था लेकिन उन्हें कुछ नहीं हुआ।

कम उम्र में इंजेक्ट किया था जहर

स्टीव बताते हैं कि उनके पिता एक पायलेट हैं। वे 10 साल की उम्र में पिता के साथ मियामी गए थे, जहां उन्होंने बिल हास्ट को देखा था। बिल हास्ट एक ऐसे शख्स थे, जो रेटलस्नेक और कोबरा जैसे जहरीले सांपों के जहर को इंजेक्ट करते थे।

बिल का मानना था कि जहर से बॉडी को फायदा होता है। बिल की मौत 100 साल की उम्र में हुई थी।

बिल से मिलकर हुए थे प्रभावित

बिल से ही मिलकर स्टीव इतना प्रभावित हो गए कि उन्होंने सांपों के बारे में अध्ययन करना शुरू कर दिया। स्टीव ने 17 साल की उम्र में कम मात्रा में सांप का जहर इंजेक्ट किया और इसके बाद धीरे-धीरे उन्होंने इसकी डोज बढ़ा दी।

ऐसे इंजेक्ट करे हैं जहर

स्टीव पहले जहर को स्किन पर रखते हैं और फिर सुई के माध्यम से शरीर में इंजेक्ट करते हैं। डॉक्टर गेब्रिइल वेस्टन के मुताबिक स्टीव खुश किस्मत हैं कि वो जहर लेने के बाद भी जिंदा हैं।

यह भी पढ़ें- 1 जनवरी 2018 से होंगे ये बड़े बदलाव, जानें क्या होगा सस्ता और क्या मंहगा

लोगों के काम आए खून- स्टीव

जानकारी के मुताबिक, स्टीव वैज्ञानिकों के साथ काम कर मनुष्यों के खून से बनी एंटीबॉडी बनाना चाहते हैं। इससे स्टीव का खून काम में आ सकता है। स्टीव का कहना है कि अब वे खुशी से मर सकते हैं क्योंकि उन्होंने अपनी जिंदगी में कुछ पॉजीटिव किया है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story