Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोर्ट ने दिया विकलांग का सिर काटने का आदेश

मानवाधिकार कार्यकर्ताओं ने मुनीर को सुनाई गई सजा की निंदा की है

कोर्ट ने दिया विकलांग का सिर काटने का आदेश
X

सऊदी अरब की एक अदालत ने एक विकलांग व्यक्ति को सजा-ए-मौत दी है। 23 साल के मुनीर अल-अदम की गलती बस यही थी कि वह एक विरोध प्रदर्शन में शामिल हुआ था।

इस प्रदर्शन के दौरान ही पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया था। अदालत ने मुनीर के प्रदर्शन में शामिल होने को उसका अपराध मानते हुए उसका सिर धड़ से अलग करने की सजा सुनाई है।

सऊदी के पूर्वी हिस्से में, जहां शिया समुदाय की तादाद ज्यादा है, वहां साल 2012 में एक प्रदर्शन के दौरान पुलिस ने मुनीर को इतनी बुरी तरह पीटा कि उसके सुनने की शक्ति चली गई।

इसके बाद मुनीर पुलिस हिरासत में ही रहे और अब एक अदालत ने मुनीर को मिली सजा पर अमल करने का आदेश जारी किया है।

मानवाधिकार कार्यकर्ताओं ने मुनीर को सुनाई गई सजा की निंदा की है। इन कार्यकर्ताओं ने मांग की है कि वाइट हाउस इस मामले में दखल दे और मुनीर को बचाए।

पिछले साल एक विशेष आपराधिक कोर्ट में सुनाई गई थी सजा

मुनीर को पिछले साल एक विशेष आपराधिक कोर्ट में यह सजा सुनाई गई थी। उनके खिलाफ काफी गुपचुप तरीके से मामला चला और अदालती कार्रवाई को बेहद गुप्त रखा गया।

इस फैसले की अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी काफी आलोचना हुई, लेकिन इसके बाद भी सऊदी की एक अपील कोर्ट ने मुनीर की सजा पर अमल किए जाने का निर्देश दिया है।

मुनीर के पास अब केवल एक ही मौका बचता है। इससे पहले कि सऊदी के सुल्तान सलमान उनकी मौत के वॉरंट पर दस्तखत करें, मुनीर उनके सामने सजा माफ किए जाने की अपील पेश कर सकते हैं।

मुनीर का केस हैरान करने वाला

लोगों को न्यायिक तरीके से न्याय दिलाने में मदद करने वाले एक संगठन 'लीगल जस्टिस चैरिटी' की निदेशक माया फोआ ने कहा, 'मुनीर का केस हैरान करने वाला है।

वाइट हाउस को इस बात के लिए परेशान होना चाहिए कि उनके एक सहयोगी देश ने एक विकलांग प्रदर्शनकारी पर इतना अत्याचार किया कि उसके सुनने की शक्ति जाती रही और इसके बाद हिरासत में उससे जबरन बयान लेकर उसे मौत की सजा सुना दी।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story