Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

गजब: इस शख्स ने 38 साल बाद खाया खाना, वजह जानकर रह जाएंगे हैरान

इस बिमारी में 38 साल बीत गए इन सालों में ठोस भोजन नहीं करने की वजह से पंचाल कुपोषण के शिकार हो गए।

गजब: इस शख्स ने 38 साल बाद खाया खाना, वजह जानकर रह जाएंगे हैरान
X

पुणे के राजीव नगर के रहने वाले राजेंद्र पंचाल जब एक साल के थे, तब दुर्घटना के शिकार हो गए। इससे उनको मुंह खोलने में परेशानी आने लगी। इसके बाद धीरे-धीरे उनका मुंह बंद हो गया। मुंह बंद होने से पंचाल खाना नहीं चबा पाते थे और उन्हें पेय पदार्थों और हल्के खाने से काम चलाना पड़ता था।

ऐसा करते-करते उन्हें 38 साल बीत गए। लेकिन अब ऑपरेशन के बाद वे ठीक से खाना खा पाएंगे। इन सालों में ठोस भोजन नहीं करने की वजह से पंचाल कुपोषण के शिकार हो गए।

इसे भी पढ़ें- गजब: नशे में तीन देशों की यात्रा की इस व्यक्ति ने, बिल देने से किया इनकार

उनके परिवार की माली हालत इतनी अच्छी नहीं थी कि वह इसका इलाज करा सकें। हालांकि उन्होंने कई अस्पतालों में इसका इलाज कराया लेकिन सर्जरी के लिए पैसे नहीं थे।

पिछले कुछ महीनों से पंचाल के दांतों में तेज दर्द होने लगा। काफी जांच के बाद डॉक्टरों ने पाया कि पंचाल अपना मुंह खोलने में पूरी तरह से असमर्थ हैं। इससे उनके दांतों तक पहुंच पाना असंभव है।

इस तरह के मामलों में चेहरे के जॉइंट खोपड़ी से मिल जाते हैं। कई बार तो मरीज का पूरी तरह से जॉइंट बदलना पड़ता है। इसके लिए बेहद कुशल तरीके से सर्जरी करना पड़ता है। पंचाल के मामले में एमए रंगूनवाला कॉलेज के डॉक्टरों की टीम ने सर्जरी की।

इसे भी पढ़ें- अजब-गजब: बिस्तर पर पत्नी ने किया कुछ ऐसा, पति पहुंच गया हॉस्पिटल

इसके परिणामस्वरूप करीब 38 साल बाद पंचाल ठोस भोजन कर सके। वह अब सामान्य जीवन बिता सकेंगे। हॉस्पिटल के डॉक्टर अरुण तांबूवाला ने कहा, 'हमने पंचाल की जांच की और उनके सामाजिक-आर्थिक स्थिति को देखते हुए मैनेजमेंट से बात की और उनका फ्री में सर्जरी किया गया।

हालांकि इसके बाद भी समस्या का समाधान नहीं हुआ। उनके सीटी स्कैन और लैब जांच फ्री में हुए लेकिन हमने पाया कि पंचाल का ब्लड ग्रुप ओ नेगेटिव है, जो दुर्लभ है।'

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story