Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अब शराब पीकर नहीं चला पाएंगे गाड़ी, जाम हो जाएगी स्‍टीयरिंग

उनके अनुसार इस उपकरण के जरिए दुर्घटना के कारण होने वाली 85 फीसदी मौतों को टाला जा सकता है।

अब शराब पीकर नहीं चला पाएंगे गाड़ी, जाम हो जाएगी स्‍टीयरिंग
X

न्‍यूयार्क. अब शराब पीकर गाड़ी चलाना संभव नही हो पाएगा। अगर आप नशे में है और ड्राइव करना चाहते हैं तो गाड़ी की स्‍टीयरिंग जाम हो जाएगी। अनुसंधानकर्ता इन दिनों एक ऐसी कार बनाने में जुटे हैं, जो ड्राइवर के शराब के नशे में होने की हालत में स्टार्ट नहीं होगी। अनुसंधानकर्ता इसके लिए कार के अंदर ही खून में शराब की मात्रा का पता लगाने वाले उपकरण फिट करने पर काम कर रहे हैं।

अजब गजबः भूत ने 3 साल पहले 9 लाख 22 हजार रुपए हड़पे, मरे हुए लोगों का खुला हुआ है बैंक अकाउंट

मिशिगन विश्वविद्यालय के अनुसंधानकर्ताओं का दल पिछले 15 सालों से नई खरीदी गई कारों में शराब की लत का पता लगाकर कार का इग्निशन लॉक कर देने वाले इस उपकरण को स्थापित करने के प्रभावों का अध्ययन कर रहे हैं। इसमें कुछ ऐसा प्रावधान भी किया जा रहा है, जिससे कार की स्टीयरिंग जाम हो जाएगी।

अजब गजब विज्ञापन, घर खरीदने के साथ बीवी बिल्कुल "मुफ्त"

अध्ययनकर्ताओं को चोट से बचाव करने और लागत घटाने में अहम परिणाम प्राप्त हुए हैं। उनके अनुसार इस उपकरण के जरिए दुर्घटना के कारण होने वाली 85 फीसदी मौतों को टाला जा सकता है। एक अमेरिकी शोध पत्रिका के ताजा अंक में प्रकाशित शोध-पत्र के अनुसार सिर्फ अमेरिका में 15 सालों के दौरान कार दुर्घटना के कारण होने वाली 59,000 मौतों को टाला जा सकता है।
इसके अलावा इससे कम घातक साबित होने वाली 12.5 लाख दुर्घटनाओं को भी टाला जा सकता है।
शोध के मुख्य लेखक मिशिगन विश्वविद्यालय के पैट्रिक कार्टर के अनुसार शराब पीने का पता लगाकर कार का इग्निशन स्वत लॉक कर देने वाले इस उपकरण से युक्त कार के इस्तेमाल को लेकर हमारे विश्लेषण में सार्वजनिक स्वास्थ्य लाभ एवं सामाजिक लागत की बचत के संबंध में अहम परिणाम प्राप्त हुए हैं।

नीचे की स्लाइड्स में जानिए, देश में क्‍या है दुर्घटनाओं का ग्राफ -

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story