logo
Breaking

डॉक्टरों ने बेटी में लगाया था मां का गर्भाशय, गर्भावस्था में बेटी के साथ हुआ कुछ ऐसा

महाराष्ट्र के पुणे में डॉक्टरों को मेडिकल के क्षेत्र में एक बड़ी कामयाबी मिली है। गर्भाशय ट्रांसप्लांट के किसी महिला ने बच्ची को जन्म दिया है।

डॉक्टरों ने बेटी में लगाया था मां का गर्भाशय, गर्भावस्था में बेटी के साथ हुआ कुछ ऐसा

महाराष्ट्र के पुणे में डॉक्टरों को मेडिकल के क्षेत्र में एक बड़ी कामयाबी मिली है। गर्भाशय ट्रांसप्लांट के बाद किसी महिला ने बच्ची को जन्म दिया है। गुजरात के वडोदरा की रहने वाली मीनाक्षी के गर्भाशय में 17 महीने पहले समस्या आ गई थी।

डॉक्टरों ने उसे बताया कि उसका गर्भाशय पूरी तरह डैमेज हो गया है। इसके उपाय में डॉक्टरों ने गर्भाशय ट्रांसप्लांट की बात कही। ऐसे में मीनाक्षी की 45 वर्षीय मां अपना गर्भाशय डोनेट करने के लिए आगे आईं।

डॉक्टरों ने मीनाक्षी के गर्भाशय को निकालकर उसकी जगह उसकी मां का गर्भाशय लगा दिया। ट्रांसप्लांट के कुछ महीनों के बाद मीनाक्षी के गर्भाशय में टेस्ट्यूब की सहायता से भ्रूण ट्रांसफर किया गया। डॉक्टरों के मुताबिक डिलीवरी नवंबर के अंत में की जानी थी लेकिन मां का बीपी और शुगर बढ़ने लगा।
जांच करने पर पता चला कि मां और बच्चे को जोड़े रखने वाले प्लेसेंटा तेजी से बढ़ रहा है। अगर यह ज्यादा बढ़ जाता तो बच्चे को पोषण मिलना बंद हो जाता। इसलिए डॉक्टरों ने ऑपरेशन करके डिलीवरी की।
डाक्टर शैलेश पुंटामबेकर के मुताबिक बच्ची का वजन 1450 ग्राम था। यह देश के साथ ही एशिया का पहला मामला है जिसमें गर्भाशय ट्रांसप्लांट के बाद किसी शिशु ने जन्म लिया हो। दुनिया में ऐसे 12 मामले हो चुके हैं। 9 मामले स्वीडन में और 2 अमेरिका में आ चुके हैं।
Share it
Top