Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

इस परि‍वार में सभी हैं मूक-बधि‍र, इशारों से होती है बात-चीत

चूल्हा-चौका से लेकर खेती-बाड़ी तक के सारे काम इस कुनबे के सदस्य इशारों के दम पर निपटाते हैं।

इस परि‍वार में सभी हैं मूक-बधि‍र, इशारों से होती है बात-चीत
X
भिलाई. दुर्ग जिले के गांव भरनी में एक ऐसा कुनबा भी है, जिसका सारा कामकाज इशारों से चलता है। इस ‘नि:शब्द’ कुनबे के सभी छह सदस्य गूंगे-बहरे हैं, लेकिन उनकी दिनचर्या में कभी किसी तरह की अड़चन नहीं आती। चूल्हा-चौका से लेकर खेती-बाड़ी तक के सारे काम इस कुनबे के सदस्य इशारों के दम पर निपटाते हैं।
दुर्ग जिले के विकासखंड मुख्यालय धमधा से महज 7 किमी दूर ग्राम पंचायत नंदवाय के आश्रि‍त गांव भरनी में पूरन लाल सतनामी व उसके परिवार के साथ कहने को तो कुदरत ने नाइंसाफी की है, लेकिन इस नाइंसाफी को पूरन लाल के कुनबे ने न सिर्फ चुनौती के रूप में मंजूर किया है, बल्कि उस पर फतह भी हासिल कर ली है। रोजी-रोटी के लिए रोजाना करीब 50 किलो मीटर का सफर तय कर भिलाई आने वालो नंदवाय निवासी 50 वर्षीय पूरन लाल सतनामी बहरा है। उसे आसानी से किसी की बात या आवाज सुनाई नहीं देती, लेकिन वह बोल जरूर लेता है। वह अपने परिवार के अन्य सदस्यों के इशारों को खुद बोलकर लोगों को समझाता है।

नीचे की स्‍लाइड्स में जानि‍ए, आनुवांशिक है बीमारी-

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि और हमें फॉलो करें ट्विटर पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story