Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

OMG: पांच महीने में पैदा हुआ इंडिया का सबसे छोटा बच्चा

जिंदगी से लगातार लड़ने वाला यह बच्‍चा कुदरत का करिशमा है।

OMG: पांच महीने में पैदा हुआ इंडिया का सबसे छोटा बच्चा
X

यूं तो आपने अभी तक सुना और देखा होगा कि सामान्‍यत बच्चों के पैदा होने का समय 9 महीने से 10 महीने तक होता है। लेकिन मुंबई के एक अस्पताल से एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है, जिसे सुनकर आपको विश्वास करना मुश्किल हो जाएगा।

दरअसल मुंबई के सूर्य अस्पताल में भारत का सबसे छोटा बच्‍चा पैदा हुआ। इस बच्चे का नाम निर्वाण रखा गया है।

यह भी पढ़ें- पाकिस्‍तान में है खली से तगड़ा आदमी, लड़ाई हो तो खली के नथुने फुला देगा, वीडियो में देखिए

समय से पहले जन्में बच्चे के परिजन बहुत चिंतित हो गए क्योंकि उसके अभी तक कुछ अंग विकसित नहीं हो पाएं हैं। हालांकि डॉक्टरों ने भरोसा दिलाया और उसे निओनेटल इंटेंसिव केयर यूनिट में रखा।
डॉक्टरों के अनुसार, 14 डॉक्टरों और 50 नर्सिंग कर्मचारियों की टीम ने इस बच्‍चे के इलाज ने किया था। इस बच्चे का जन्म मां के गर्भ में आने के 22 वें सप्ताह के दौरान हुआ, जन्म के समय निर्वाण का वजन 610 ग्राम था। और सिर का आकार 22 सेंटीमीटर और लंबाई 32 सेंटीमीटर थी।
निर्वाण के जन्म के समय श्वसन समर्थन, फेफड़ों का विस्तार आदि करने के लिए बीच-बीच में वेंटीलेटर पर भी रखा। हालांकि 6 हफ्तों के बाद निर्वाण को वेंटिलेटर हटाकर उसे दूध दिया गया। इस दौरान बच्चे का वजन करीब एक किलो बढ़ गया था।
डॉक्‍टरों ने फेफड़ों के विस्तार के लिए साफ्टएक्टेंट इंजेक्शन की कई खुराकों को श्वास नल में डाली थी। बाल विभाग के निदेशक डॉक्‍टर भूपेंद्र अवस्‍थी का कहना है कि इस बच्चे को अभी और मेडिकल ट्रीटमेंट की जरूरत है।

यह भी पढ़ें- वीडियो देखने से पहले थाम लीजिए दिल, स्टंट कर देंगे हैरान

मेडिकल साइंस के अनुसार गर्भावस्‍था के समय से पहले पैदा हुए जीवित शिशुओं में गंभीर बिमारियां होने का अधिक खतारा रहता है।
डॉक्‍टरों ने बताया कि इससे पहले भी इस अस्पताल में 24 सप्ताह में नवजात शिशु का मामला भी हो चुका है। वह शिशु भी जीवित पैदा हुआ था। वहीं कुछ लोगों का कहना हैं कि 132 दिनों से अपनी जिंदगी से लगातार लड़ने वाला यह बच्‍चा कुदरत का एक बड़ा करिशमा है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story