Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

यहां गंडासा-चाकू चलाकर किया जाता है मसाज

फांग ने बताया कि “मसाज करने का यह तरीका 2500 साल पुराना है जो मूलत: चीन की देन है।

यहां गंडासा-चाकू चलाकर किया जाता है मसाज
X

आजकल की भागदौड़ और तनाव भरी जिंदगी हर कोई चाहता है की कुछ ऐसा किया जाए जिससे फ्रेश महसूस हो।इनमें अधिकतर लोग मसाज कराकर इस थकान को दूर करते है। हालांकि बॉडी के लिए मसाज कराना भी जरूरी है।

वैसे तो आपने अभी तक सुना होगा कि मसाज सिर्फ हाथ से किया जाता है। लेकिन आज हम आपको बताने जा रहे मसाज का ये अनोखा और विचित्र तरीका। बाजार में एक नई तरह की मसाज आई है, जिसमें हाथों की जगह चाकू/गंडासे से मसाज की जाती है।

इसे भी पढ़े:- OMG! 8 साल का ये बच्चा बॉलीवुड के शहनशाह अमिताभ से भी है लंबा

ताइवान में मसाज का यह तरीका काफी प्रचलित हो रहा है। यहां पिछले 30 सालों से ह्सियाओ मेई फांग नाम की महिला चाकू से मसाज दे रही है। इस मसाज की शुरुआती कीमत 30 पौंड (करीब 2500 रुपए) है।

फांग ने बताया कि “मसाज करने का यह तरीका 2500 साल पुराना है जो मूलत: चीन की देन है। हालांकि उन्होंने इसे करने का नया तरीका खोजा है। इसमें वो एक की जगह दो चाकुओं/गंडासे का इस्तेमाल करती हैं।

इस मसाज के जरिए व्यक्ति के अंदर मौजूद ऊर्जा में परिवर्तन होता है और शरीर हल्का महसूस होता है। उन्होंने बताया कि थेरेपी के लिए किचन वाले चाकुओं का इस्तेमाल नहीं किया जाता।

जो चाकू उपयोग में लाए जाते हैं वो बिलकुल सुरक्षित होते हैं। फांग ने बताया कि यह मसाज जीवन-परिवर्तित भी कर सकती है। उन्होंने कहा, “कई लोग इसे मजाक के तौर पर लेते हैं, लेकिन वो जानते नहीं कि इससे जीवन बदल भी सकता है।”

मसाज लेने वाली एक महिला ग्राहक ने कहा, “ऐसा लगता है मानों शरीर में करंट दौड़ रहा हो। मसाज के बाद बहुत अच्छा लगता है। पहले मुझे सुबह के समय शरीर में दर्द होता था, लेकिन अब सब ठीक है। मेरी कमर को भी आराम मिला है।”

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story