Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

अजब गजब: जानें आखिर क्यों इस देश में दुल्हा-दुल्हन नहीं जा सकते हैं टॉयलेट, ये हैं सख्त नियम

शादियों में हर जगह तरह-तरह के नियमों का पालन किया जाता है। किसी जगह दुल्हा घोड़े पर ही चढ़कर आ सकता है तो कहीं दुल्हन पाटे पर ही आ सकती है। उसी तरह इस देश में टॉयलेट जाने पर पाबंदी के नियम का पालन दोनों को करना होता है।

जानें इस देश में दुल्हा-दुल्हन क्यों नहीं जा सकते हैं टॉयलेटजानें इस देश में दुल्हा-दुल्हन क्यों नहीं जा सकते हैं टॉयलेट

शादी में हर जगह अलग-अलग नियमों का पालन किया जाता है। हर धर्म के लोग अपने नियमों का सख्ती से पालन करते हैं। क्योंकि उन्हें डर होता है कि अगर उन्होंने इन नियमों का पालन नहीं किया तो शादी के नये-नवेले जोड़े की जिंदगी पर आफत आ सकती है। ये नियम उनके लिए भले ही जरुरी होता है। लेकिन दूसरे जगह और धर्म के लोगों को ऐसे नियम विचित्र नजर आते हैं। कुछ इसी तरह का एक नियम अभी चर्चा का केन्द्र बना हुआ है। इस नियम के अनुसार शादी करने के बाद तीन दिनों तक दुल्हा-दुल्हन टॉयलेट नहीं जा सकते हैं।

इंडोनेशिया के टीडॉन्ग समुदाय का है ये रस्म

इस नियम को सुनकर आप कितने भी हैरत में आ जाएं, लेकिन इंडोनेशिया के इस अनोखी रस्म को वहां के लोग सख्ती से निभाते हैं। यह रस्म इंडोनेशिया के टीडॉन्ग समुदाय में बहुत प्रचलित है। इस रस्म के अनुसार दुल्हा-दुल्हन को तीन दिनों तक टॉयलेट जाने की पाबंदी है। इस रस्म को तोड़ना उन की सभ्यता में अपशकुन माना जाता है।

टॉयलेट जाने से पवित्रता होती है नष्ट

टीडॉन्ग समुदाय के लोगों का मानना है कि शादी एक पवित्र बंधन है। टॉयलेट जाने से शादी की पवित्रता नष्ट होगी और दुल्हा-दुल्हन अशुद्ध हो जाएंगे। साथ ही उन लोगों का मानना है कि टॉयलेट को बहुत सारे लोग इस्तेमाल करते हैं। जिससे टॉयलेट में उनकी निगेटिव ऊर्जा रह जाती है। अगर नये-नवेले दुल्हा-दुल्हन टॉयलेट का इस्तेमाल करते हैं, तो उनमें उन लोगों की निगेटिव ऊर्जा आ जाती है। इससे दुल्हा-दुल्हन के रिश्ते टूटने का खतरा रहता है। इतना ही नहीं, इसके कारण दुल्हा-दुल्हन की जान भी खतरे में आ सकती है।

खाने पीने पर भी लगाई जाती है पाबंदी

दुल्हा-दुल्हन इस अपशकुन से बचे रहें। इसके लिए उन्हें तीन दिनों तक कम खाना दिया जाता है। इस प्रथा को मानने के लिए दुल्हा-दुल्हन को पानी भी कम पिलाया जाता है। जिससे उनकी इस रस्म में बाधा न आ पाए।

Next Story
Top