Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कायन जनजाति की महिलाएं खूबसूरत दिखने के लिए गले में पहनती हैं तांबे के छल्ले, देखें तस्वीरें

बर्मा और थाइलैंड की पर्वत चोटियों के बीच रहने वाली कायन जनजाति हमेशा से ही वहां जाने वाले पर्यटकों को आकर्षित करती रही है।

कायन जनजाति की महिलाएं खूबसूरत दिखने के लिए गले में पहनती हैं तांबे के छल्ले, देखें तस्वीरें
X
रंगून. बर्मा और थाइलैंड की पर्वत चोटियों के बीच रहने वाली कायन जनजाति हमेशा से ही वहां जाने वाले पर्यटकों को आकर्षित करती रही है। कायन या पाडाउंग जनजाति का संबंध बर्मा और तिब्बत में रहने वाले जनजातियों के साथ माना जाता है। तस्वीर में दिख रही ये महिला आपको भले ही अजीब लगे, लेकिन ईस्टन बर्मा की कायन जनजाति की महिलाओं के बीच यह आम बात है।
दरअसल, गर्दन में तांबे के भारी छल्ले पहनना, कायन जनजाति में सुंदरता का प्रतीक माना जाता है। कायन जनजाति का संबंध बर्मा और तिब्बत में रहने वाले जनजातियों के साथ माना जाता है। वर्तमान में इस जनजाति की संख्या तकरीबन 40,000 है।
आमतौर पर महिलाओं को नाजुक और कोमल समझा जाता है, लेकिन कायन महिलाएं इस धारणा की अपवाद हैं।
आपको यह जानकर बेहद अश्चर्य होगा कि यह कायन महिलाएं अपनी नाजुक गर्दन में भारी-भारी तांबे के छल्ले पहनती हैं जिनकी संख्या उम्र के साथ-साथ बढ़ती जाती है। जब बच्ची पांच वर्ष की होती है तब से यह सिलसिला प्रारंभ होता है और जैसे जैसे उसकी आयु बढ़ती है छल्लों का भार और उनका आकार भी बढ़ता जाता है।
नीचे की स्‍लाइड्स में देखें, कायन जनजाति की 'जिराफ वुमन' -
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि और हमें फॉलो करें ट्विटर पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story