Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जानिए क्यों कहते हैं इसे ''रेनबो विलेज'', लोग विदेशों से आ रहे हैं इसे देखने

नदी के पास बसे इस गांव में कुल 200 घर हैं।

जानिए क्यों कहते हैं इसे रेनबो विलेज, लोग विदेशों से आ रहे हैं इसे देखने
X

अपनी रंग बिरंगी छटा को समेटे 'इंद्रधनुषी गांव' के नाम से चर्चित इंडोनेशिया का एक गांव चर्चा में है। स्थानीय मेयर ने जावा द्वीप पर स्थित इस नये सजे धजे इलाके को गत दिनों जनता के लिये खोल दिया और देखते ही देखते यह 'इंद्रधनुषी गांव' के नाम से पूरी दुनिया में पहचान बनकर उभरा जिसे देखने दूर-दूर से लोग पहुंच रहे हैं।

पर्वतीय क्षेत्र में नदी के पास बसा 200 घरों का यह गांव बेहद ठेठ, कम आय वाले इंडोनेशियाई लोगों का बसेरा है। गांव को नया रंग रूप देने से पहले ऐसा लगता था मानों इस गांव की बदहाल सूरत कभी नहीं सुधरेगी। सेमारांग स्थित इस गांव के निवासी वोनोसारी समुदाय के लोगों ने इसे नया रूप देने का कठिन फैसला किया।

घरों के रंग रोगन के लिए उन्हें स्थानीय सरकार से राशि मिली और कई कंपनियों ने भी इस परियोजना में सहयोग दिया और फिर से रंग रोगन कर इंद्रधनुष जैसा रूप दिया गया। इस पूरी परियोजना पर 20 लाख डॉलर की लागत आई। इन घरों की साज-सज्‍जा के लिए वहां की सरकार के साथ-साथ कई अन्‍य कंपनियों ने भी मदद की।

गांव को बदलने का सीधा मकसद है कि यहां के लोगों की इनकम को बढ़ाना। क्‍योंकि ऐसे नए घरों को देखने के लिए विदेशी पर्यटकों का तांता लगा है। टूरिस्‍ट इन घरों की फोटो खींचकर सोशल मीडिया पर वायरल कर रहे हैं।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story