logo
Breaking

हैरतअंगेज / रोबोट के जरिए डॉक्टर ने 32 किमी दूरी से किया दिल का ऑपरेशन

दुनिया में इंसान के दिल की पहली टेलीरोबोटिक कोरोनरी सर्जरी बुधवार को गुजरात में सफलाता पूर्वक पूरी हुई। दिल की बीमारी से जूझ रही एक बुजुर्ग महिला का ऑपरेशन 32 किलोमीटर दूर बैठे विशेषज्ञ ने रोबोट के जरिए किया।

हैरतअंगेज / रोबोट के जरिए डॉक्टर ने 32 किमी दूरी से किया दिल का ऑपरेशन
दुनिया में इंसान के दिल की पहली टेलीरोबोटिक कोरोनरी सर्जरी बुधवार को गुजरात में सफलाता पूर्वक पूरी हुई। दिल की बीमारी से जूझ रही एक बुजुर्ग महिला का ऑपरेशन 32 किलोमीटर दूर बैठे विशेषज्ञ ने रोबोट के जरिए किया। इस हार्ट सर्जरी को एक बड़ी स्क्रीन पर मुख्यमंत्री विजय रुपाणी के साथ मीडिया को दिखाया गया।
ऑपरेशन हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ तेजस पटेल ने गांधीनगर के अक्षरधाम मंदिर में बैठकर किया। हृदय रोग से पीड़ित महिला को अक्षरधाम मंदिर से 32 किलोमीटर दूर अहमदाबाद के एपेक्स हार्ट इंस्टीट्यूट में भर्ती किया गया था। जहां रोबोट के जरिए महिला के धमनियो में ब्लॉकेज को खोला गया।
रोबोट को निर्देश देने के लिए डॉ पटेल ने 100 एमबी प्रति सेकंड की इंटरनेट लाइन का इस्तेमाल किया था। डॉ पटेल ने बताया कि अगर 20 एमबी की स्पीड भी होती तो भी कोई दिक्कत नहीं आती। डॉ तेजस के मुताबिक यह प्रक्रिया चिकित्सा जगत में एक नई राह खोलेगी।
इस प्रक्रिया के लिए अमेरिका के कोरिंडस वैस्कुलर रोबोटिक्स इंक की कोरपाथ तकनीक को इस्तेमाल में लाया गया था। बताया जा रहा है कि यह प्रक्रिया बेहद महंगी है लेकिन समय के साथ ही सस्ती हो जाएगी।

मंदिर को चुनने की खास वजह

डॉ पटेल ने बताया कि अक्षरधाम मंदिर को चुनने को आपरेशन के लिए चुनने की एक खास वजह थी। क्योंकि यह दुनिया का एक खास ऑपरेशन था। जिसके चलते वह एक तरह के मानसिक दबाव में थे। इस लिए वह एक पॉजिटिव एनर्जी चाहते थे।
Share it
Top