Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अब फ्रिज में तैरेंगी मछलियां और उगेंगी सब्जियां

डिजाइनर्स ने ऐसे फ्रिज तैयार कर लिए हैं जो घर के भीतर मछली पालने और सब्जियां उगाने के काम आएंगे।

अब फ्रिज में तैरेंगी मछलियां और उगेंगी सब्जियां
X

गांव हो या शहर आज की तारीख में फ्रिज सबकी जरूरत बन गया है। खासतौर पर गर्मियों के मौसम में तो इसके बिना रहने की कल्पना करना भी काफी मुश्किल है। लेकिन आपको बता दें कि फ्रिज सिर्फ चीजों को ताजा रखने के काम नहीं आता है बल्कि अब तो ऐसे-ऐसे फ्रिज आ गए हैं जिसमें आप मछली पाल सकते हैं और सब्जियां तक उगा सकते हैं। यानी फ्रिज में ही सब्जी उगाइए और फ्रिज में ही उसे रख दीजिए। डि‍जाइनर्स अब एक ऐसा फ्रि‍ज बनाने में सफलता हासिल की है जि‍समें मछलियां तक पाली जा सकती हैं और मछली के टैंक के ऊपर सब्‍जि‍यां भी उगाई जा सकती हैं। खास बात यह है कि इस फ्रि‍ज को कमरे में ही रखा जा सकता है। इस फ्रि‍ज में एक टैंक बनाया गया है जि‍समें मछलि‍यां पलती हैं। टैंक के ऊपर उगाई जा रही सब्‍जि‍यों को प्राकृति‍क खुराक मछलि‍यों द्वारा पैदा की गई गंदगी से मि‍लती है। हालांकि मछलि‍यों के टैंक को समय-समय पर साफ भी करना पड़ता है।

इस फ्रि‍ज को दो नाम दि‍ए गए हैं। पहला लोकल रि‍वर और दूसरा फ्रि‍ज एक्‍वेरि‍यम। इसमें एकदम एक्‍वेरि‍यम की ही तरह मछलि‍यों को पाला जाता है और उनके खाने से लेकर साफ सफाई का ख्‍याल रखा जाता है। फ्रेंच डि‍जाइनर मैथ्‍यू लेहान्‍योर और एंटोनी वैन डेन बोशे ने इसे बनाया है। इस फ्रि‍ज कम एक्‍वेरि‍यम का डि‍जाइन भी खूबसूरत और देखने लायक है। लोकल रि‍वर नाम के इस फ्रि‍ज का इकोसि‍स्‍टम वातावरण को संतुलि‍त रखने के लि‍ए एक्‍वापोनि‍क्‍स के सिद्धांत का इस्‍तेमाल करता है। एक्‍वापोनि‍क्‍स को पि‍स्‍कीपोनि‍क्‍स के नाम से भी जाना जाता है। यह स्‍थाई खाद्य उत्‍पादन प्रणाली है। इस सिस्‍टम में मछलि‍यां, क्रेफि‍श, प्रॉन्‍स तो पाले और बड़े कि‍ए जा सकते हैं, साथ ही पानी में उगने वाले पौधे भी उगाए जा सकते हैं।
इस सिस्‍टम में दो तरह के जीव एक ही प्रणाली में पल बढ़ सकते हैं। एक्‍वाकल्‍चर में पानी में पलने वाली मछलि‍यों की गंदगी उन्‍हें नुकसान पहुंचा सकती है, इसलि‍ए इसे समय समय पर साफ करना पड़ता है। हालांकि यह भी ऑटोमैटि‍क है। जब हाइड्रोपोनि‍क सिस्‍टम आया, मछलि‍यों की गंदगी नाइट्रोजन आधारि‍त बैक्‍टीरि‍या से खत्‍म की जाने लगी और सि‍स्‍टम के ऊपर लगे पौधे पानी को फि‍ल्‍टर करने लगे। पौधों द्वारा साफ कि‍ए गए पानी में मछलि‍यां आराम से जिंदा रह सकती हैं और पल बढ़ सकती हैं।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story