logo
Breaking

गोबर की चोरी में सरकारी कर्मचारी गिरफ्तार, 1.25 लाख का गोबर चुराने का ये था कारण

कीमती सामानों को चोरी के आपने कई मामले देखे होंगे। लेकिन कर्नाटक के चिकमंगलुरु में चोरी का एक अनोखा मामला सामने आया है।

गोबर की चोरी में सरकारी कर्मचारी गिरफ्तार, 1.25 लाख का गोबर चुराने का ये था कारण

कीमती सामानों को चोरी के आपने कई मामले देखे होंगे। लेकिन कर्नाटक के चिकमंगलुरु में चोरी का एक अनोखा मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि यहां गाय का गोबर चोरी हो गया। हैरानी की बात यह है कि चोरी के इस मामले में पुलिस ने एक सरकारी कर्मचारी को गिरफ्तार किया है।

घटना जिले के बिरूर थाना क्षेत्र की है। बिरूर के सीपीआई सत्यनारायण स्वामी ने बताया कि पशुपालन विभाग के जॉइंट डायरेक्टर की तरफ से गाय के गोबर की चोरी के मामले में एफआईआर दर्ज कराई गई थी।

उन्होंने शिकायत की थी कि अमृतमहल कवल के स्टॉक में गोबर रखा था जहां से 35-40 ट्रैक्टर गोबर चोरी हो गया। इस गोबर की कीमत 1.25 लाख रुपये थी। जांच के बाद पुलिस ने पशुपालन विभाग के सुपरवाइजर को गिरफ्तार किया है।

इसके साथ ही जिस व्यक्ति की जमीन पर चोरी का गोबर पाया गया है उसके खिलाफ भी एफआईआर दर्ज की गई है। पुलिस ने बरामद किया गया गोबर पशुपालन विभाग के अधिकारियों को सौंप दिया है। गाय का गोबर और गोमूत्र खेती-बाड़ी में प्रयोग किया जाता है।

इसका इस्तेमाल देसी खाद बनाने में भी होता है। प्रदेश में गोमूत्र और गाय के गोबर की काफी मांग है। इसके अलावा आयुर्वेद में भी गाय के गोबर की डिमांड रहती है। विशेषज्ञों की मानें तो गोमूत्र और गाय के गोबर का खेतों में इस्तेमाल करने से फसल की पैदावार अच्छी होती है।

Share it
Top