Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

ऐसी झील जिसमें डिस्टिल्ड वॉटर से भी ज्यादा साफ रहता है पानी

न्यूजीलैंड में एक ऐसी झील है जिसका पानी दुनिया की सब झीलों में सबसे साफ है।

ऐसी झील जिसमें डिस्टिल्ड वॉटर से भी ज्यादा साफ रहता है पानी
X

प्रकृति के पिटारे में आज भी ऐसे-ऐसे आश्चर्य भरे पड़े हैं कि जिनके बारे में इंसान आज तक नहीं जान पाया है। आज भी दुनिया में प्रकृति के कई ऐसे कारनामे सामने आते रहते हैं जो दातों तले उंगली दबाने को मजबूर कर देते हैं। ऐसे ही दुनिया में सबसे साफ पानी वाली झील की तस्वीरें पहली बार लोगों के सामने आई हैं। यह झील न्यूजीलैंड में है लेकिन अब तक इसके बारे में ज्यादा लोग नहीं जानते थे। न्यूजीलैंड के साउथ आईलैंड की इस ब्लू लेक का पानी इतना साफ है कि इसमें 80 मीटर गहराई तक देखा जा सकता है। यह तस्वीरें प्रोजेक्ट प्रेशर और न्यूजीलैंड के संरक्षण और पर्यटन विभाग की मदद से ली गई हैं। इस झील का पानी पूरे साल भर साफ रहता है।

इस झील का पानी डिस्टिल्ड वॉटर से भी साफ है क्योंकि डिस्टिल्ड वॉटर में भी सिर्फ 76 मीटर तक ही देखा जा सकता है। इस झील की खासियत यह है कि इसका पानी कभी भी गंदा नहीं होता है। अगर बारिश के दिनों में कुछ समय के लिए पानी मटमैला भी हो गया तो जल्द ही अपने आप साफ हो जाता है। ऐसा इसलिए है कि इस झील में फिल्टर्ड सिस्टम लगा हुआ है। न्यूजीलैंड के साउथ आईलैंड पर बसी झील का पानी देखकर दुनिया भर के वैज्ञानिक भी आश्चर्यचकित हैं। दरअसल यह झील एक संरक्षित क्षेत्र में है और यहां पर अकेले आना और झील में प्रवेश करने पर रोक लगाई गई है। लेकिन न्यूजीलैंड की सरकार के साथ काम करते हुए प्रोजेक्ट प्रेशर के फोटोग्राफर को झील में डुबकी लगाने की अनुमति दी गई थी। उन्होंने ऐसा करके झील के पानी की सफाई और ठंडक का खुद अहसास किया। झील में डुबकी लगाने से पहले स्थानीय माओरी जनजाति के लोगों से भी सलाह मशविरा लिया गया था।

ब्लू लेक समुद्र तल से 1200 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है और यह अपने से ऊपर बसी दूसरी झील से पानी लेती है। यह झील पेड़ों के स्तर से ऊपर है इसिलए इसमें पेड़ों के पत्ते गिरने का खतरा भी नहीं बना रहता है। ब्लू लेक का पानी साफ करने के लिए नेचुरल मशीनरी लगी हुई है। इसका पानी ग्लेशियर द्वारा बहाकर लाए मलबे से साफ होता है। तब जाकर दुनिया की सबसे साफ ब्लू लेक बनती है। ब्लू लेक में एक होल से पानी निकलता है और हर 24 घंटे में पानी बदल जाता है। पानी के साफ बने रहने की एक वजह यह भी है। स्थानीय लोगों की मान्यता और न्यूजीलैंड की केंद्र सरकार की रोक के चलते इस झील में आज तक काफी कम लोग डुबरी लगा चुके हैं।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story