Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हैरतअंगेज! ये है हाईटेक गिलहरी, वीडियो देख हैरान रह जाएंगे आप

मनुष्य की तरह जानवरों के अंग खराब होने पर उनके भी आर्टिफिशियल अंग लग सकते है। यह सोचकर ही आपको बहुत हैरानी हो रही होगी कि ऐसा कैसे हो सकता है लेकिन यह हैरतअंगेज कर देने वाला काम एक इंजीनियर'' ने कर डाला है।

हैरतअंगेज! ये है हाईटेक गिलहरी, वीडियो देख हैरान रह जाएंगे आप
X

अगर किसी व्यक्ति के हाथ-पैर में चोट लग जाएं या उसका कोई अंग खराब हो जाएं तो उसके शरीर में डॉक्टर खराब अंग की जगह आर्टिफिशियल अंग लगा देते है लेकिन जिसके बाद भी व्यक्ति पहले की तरह चल फिर नहीं पाता।

लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि मनुष्य की तरह जानवरों के अंग खराब होने पर उनके भी आर्टिफिशियल अंग लग सकते है। यह सोचकर ही आपको बहुत हैरानी हो रही होगी कि ऐसा कैसे हो सकता है लेकिन यह हैरतअंगेज कर देने वाला काम एक इंजीनियर' ने कर डाला है।

एक गिलहरी जिसका नाम कारमेल है। जो कि बैटमैन के जंगली जानवरों के जाल में फस गई थी। जिसकी वजह से उसने अपने आगे के दो हाथ खो दिए थे और वह चल नहीं पा रही थी। लेकिन डॉक्टर ने कुछ ऐसा कर डाला कि सब हैरान ही रह गएं।

कारमेल गिलहरी को ठीक करने के लिए डॉक्टर ने उसकी सर्जरी की जिसमें उसमें दोनों हाथों को काटना पड़ा। हालांकि इस्तांबुल Aydın विश्वविद्यालय के एक पशु लवर 'कंप्यूटर इंजीनियर ने करमेल को दुबारा से ठीक करने की कोशिश की।

इंजीनियर ने दो पहिये लगा कर एक प्लासटर तैयार किया जिसे बायोनिक आर्म कहा जाता है जो कि गिलहरी को पहना दिया। जिसके बाद वह अपने पीछे के दो पैर और पहियो की मदद से पहले की तरह भाग पा रही है।

गंभीर सर्जरी से गुजरने के बाद भी जब करमल ठीक नहीं हो पाई तो फिर उसका मालिक उसको इंजीनियर के पास ले गएं। जो कि करमल को ठीक करने में कामयाब रहे और अब गिलहरी खुद पहले की तरह खेल पा रही है।

करमेल दुनिया में पहली ऐसी गिलहरी है जिसमें दो बायोनिक आर्म्स लगाए गए है। आज से पहले ऐसा कभी देखने को नहीं मिला है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story