Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

देखिए भारतीय वायुसेना के ''गगन शक्ति 2018'' का हैरतअंगेज कारनामा, चीन और पाकिस्तान के छूटे पसीने

तीन दशकों से भारतीय वायुसेना का सबसे बड़ा युध्द अभ्यास गगन शत्ति 2018 में पिछले तीन दिन से जारी है, इसमें करीब 1100 विमानों ने हिस्सा लिया है। जिसमें आधे से ज्यादा लड़ाकू विमान शामिल थे। भारतीय वायुसेना के इस विमान के हैरतअंगेज कारनामे देख के चीन और पाकिस्तान के पसीने छूट गए हैं।

देखिए भारतीय वायुसेना के गगन शक्ति 2018 का हैरतअंगेज कारनामा, चीन और पाकिस्तान के छूटे पसीने
X

तीन दशकों से भारतीय वायुसेना का सबसे बड़ा युध्द अभ्यास गगन शत्ति 2018 में पिछले तीन दिन से जारी है, इसमें करीब 1100 विमानों ने हिस्सा लिया है। जिसमें आधे से ज्यादा लड़ाकू विमान शामिल थे। भारतीय वायुसेना के विमान गगन शक्ति 2018 के हैरतअंगेज कारनामे देख के चीन और पाकिस्तान के पसीने छूट गए हैं।

वायु सेनाध्यक्ष बी.एस. धनोवा ने कहा कि पाकिस्तान काफी करीब से इस अभ्यास को देख रहा है। उन्होंने आगे इस अभ्यास को देखते हुए कहा है कि आसमान को हिला रहा है और धरती को चीर रहा है।

ये भी पढ़े: कैश संकट पर राहुल गांधी का वार, 'मैं अगर संसद में 15 मिनट बोलूं तो खड़े नहीं हो पाएंगे पीएम मोदी'

वायुसेना इस अभ्यास को वेस्टर्न सेक्टर की बजाए ईस्टर्न सेक्टर में करने जा रहे है। इस अभ्यास को लेकर धनोवा ने कहा है कि सभी तरह की प्रशिक्षण को 22 अप्रैल तक के लिए रोक लगा दी है। उन्होंने आगे कहा है कि युद्ध के दौरान सेना के हर काम को रोक दिया जाता है।

भारतीय वायुसेना ने दिखाया दम

भारतीय वायुसेना का यह अभ्यास पश्चिम इलाके में एक हफ्ते से जारी है। इसमें पैराशुट ब्रिगेड बटालियन के साथ वायुसेना ने आकाश से निशाना साधने का अभ्यास किया है। इस अभ्यास के दौरान लक्षद्वीप तक उड़ान के दौरान सुखोई ने दो बार आकाश में ईंधन भी भरवाया था।

पश्चिमी सीमा पर अभ्यास करने के लिए पाकिस्तान को पहले ही सूचना दे दी गई थी। इसके बाद भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान को अपना दम दिखाया। वहीं दूसरी तरफ तिब्बत की ओर से चीन के खिलाफ यह युद्ध अभ्यास किया गया था।

ये भी पढ़े: BJP का राहुल गांधी पर हमला, भगवा आतंकवाद शब्द के इस्तेमाल के लिए मांफी मांगें

इस अभ्यास में सुखोई-30 एमकेआई, मिग-29, मिग 27, जगुआर और मिराज जैसे 600 लड़ाकू विमानों ने हिस्सा लिया था। बड़े परिवहन विमान सी-17, ग्लोब मास्टर, सी-130 जे सुपर हरक्यूलिस जैसे विमान शामिल है।

बता दें कि वायुसेना के विमानों ने जैसलमेर में जमकर युद्धाभ्यास किया है। गगन शक्ति 2018 में इस बार महिला फाईटर पायलट ने भी हिस्सा लिया है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story