Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

प्रशांत महासागर में वैज्ञानिकों ने खोजा कचरे से बना आइलैंड

वैज्ञानिकों का मानना है कि समुद्र में इतनी मात्रा में कचरा समुद्री जीवों के लिए खतरनाक साबित हो सकती है।

प्रशांत महासागर में वैज्ञानिकों ने खोजा कचरे से बना आइलैंड
X

टोक्यो. समूद्री वैज्ञानिकों ने प्रशांत महासागर में एक ऐसा द्वीप ढूंढ निकाला है जो कूड़े से बना हुआ है। वैज्ञानिकों ने इस क्षेत्र का नाम 'ग्रेट पैसफिक पैच' रखा है। यह द्विप 2011 में आई जपानी सुनामी में लाए गए मलबे से बना है।

इस द्वीप पर रीसर्च कर रही टीम के मुखिया चार्ल्स मूरे का कहना है कि यह आइलैंड अमेरिका के टेक्सास से भी बडा है। यह जगह तट से 1,000 मील दूर है।

वैज्ञानिकों का कहना है कि समुद्र में कूूूड़े करकट की मात्रा लगातार बढ़ती जा रही है जो चिंताजनक है। इस आइलेंड को जिसे बोए आइलैंड के नाम से भी जाना जा रहा है, कई समुद्री जीवों ने आपना घर बना लिया है।

वैज्ञानिक इस क्षेत्र में नाओं पर सवार होकर महीनों समय गुजार रहें हैं। उनकी दिलचस्पी उन पदार्थों में है जिससे यह आइलैंड बना हुआ है। ड्रोन विमानों से इस द्वीप की फोटो खींचकर इनका अध्ययन किया जा रहा है। वैज्ञानिकों का मानना है कि समुद्र में इतनी मात्रा में कचरा समुद्री जीवों के लिए खतरनाक साबित हो सकती है।

यह द्वीप प्लास्टिक जैसे तैरने वाले कचरे के साथ ही धातु के वस्तुओं से भी बना है। लंबी-लंबी रस्सियों के सहारे झूलते धातु के ये वस्तुएं इस द्वीप को एक जगह बनाए रखने में एंकर की भूमिका निभा रहे है। इस द्वीप का भार क्षेत्र में मौजूद तैरने वाले समुद्री जीवों यानी प्लैंकटॉन के भार से कहीं अधिक है। गौरतलब है कि विश्व में कई आईलैंड एसे हैं जो मृत प्लैंकटॉन की खोल से बने हैं। भारत का लक्षद्वीप के द्वीप समूह ऐसे ही आइलैंड हैं।

नीचे की स्लाइड्स में देखिए, कौन-कौन सी वस्तुएँ पाई गई है गारबेज आइलैंड पर-

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि
और हमें फॉलो करें ट्विटर पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story