Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मालिक ने वापस मांगे रुपये तो कर्मचारी ने बॉस को पिला दिया कोरोना वायरस का ड्रिंक, सच सामने आने पर उड़ गये होश

मालिक ने कर्मचारी को ऑफिस में रखने के लिए दिए थे रुपये। कर्मचारी रुपये लेकर हुआ फरार। मालिक के पूछने पर बताया कैसे कोरोना वायरस की ड्रिंक देकर किया था हत्या का प्रयास।

मालिक ने वापस मांगे रुपये तो कर्मचारी ने बॉस को पिला दिया कोरोना वायरस का ड्रिंक, सच सामने आने पर उड़ गये होश
X

अक्सर काम को लेकर बॉस या मालिक से लेकर कर्मचारी की तनातनी और कहासुनी हो जाती है, लेकिन इस कहासुनी से नाराज एक कर्मचारी ने ऐसे कदम उठा लिया। जिसका पता लगते ही सभी के होंश उड गये। कर्मचारी की करतूत जानकर आप भी हैरान रह जाएंगे। जी हां इसकी वजह कर्मचारी द्वारा मालिक को मारने के लिए एक ऐसा प्लान बनाया गया। जो हैरान करने वाला है। इसका पता लगने पर मालिक ने मामले की शिकायत पुलिस को दी। जिसके बाद पुलिस आरोपी कर्मचारी के खिलाफ हत्या के प्रयास का मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच में जुटी है।

दरअसल यह पूरा मामला दक्षिण पूर्व में स्थित तुर्की के अदाना शहर का है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, यहां उर्वेंदी एक कार डीलरशिप एजेंसी के मालिक हैं। उन्होंने बताया कि उनके यहां तीन साल से काम करने वाले एक कर्मचारी ने उनकी हत्या करने की कोशिश की, उसने यह कोशिश किसी हथियार या ईंट पत्थर से नहीं बल्कि कोरोना पीडित मरीज की लार खरीदकर उसे पानी मिलाकर उन्हें कोरोना वायरस के ड्रिंक पिलाने से की। जी हां यह जानकार आप को हैरानी जरूर हो रही होगी। उर्वेंदी ने बताया कि उनके कर्मचारी ने एक कार बेची थी। इसके पैसे मैंने उसे ऑफिस में रखने के लिए कहा था, लेकिन उसने यह रुपये ऑफिस में नहीं रखें। उन्हें इसका पता अगले दिन ऑफिस पहुंचने पर लगा। उर्वेंदी ने पता लगते ही कर्मचारी को फोन कर पैसे ऑफिस में न रखने की वजह पूछी, इस पर उसने पैसे देने से साफ इनकार कर दिया। साथ ही कहा कि वह इन रुपयों से अपना कर्ज चुकता करेगा। उर्वेंदी के सवाल जवाब करने पर कर्मचारी ने कहा कि अगली बार तुम्हें कोरोना वायरस से नहीं मारूंगा बल्कि शूट करूंगा। इसके बाद से आरोपी फरार चल रहा है।

कर्मचारी ने खुद किया इस बात का खुलासा

उर्वेंदी ने बताया कि कर्मचारी ने गुस्से में बताया कि कुछ दिन पहले ही उसने उनकी हत्या की प्लानिंग की थी। इसके लिए उसने एक कोरोना वायरस के मरीज से उसकी लार खरीदी। इसके बाद उसकी लार को पानी में मिलाकर उर्वेंदी को पिला दिया था। उर्वेंदी ने बताया कि भगवान का शुक्र है कि मैं बीमार नहीं पडा, लेकिन इस तरह हत्या की साजिश कोई रच सकता है। इसका पता नहीं था। उन्होंने मामले की शिकायत पुलिस को दी है। जिसके बाद से पुलिस आरोपी कर्मचारी का पता लगान में जुटी है।

Next Story