Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

अब 'चाय-पकौड़े' वालों पर IT विभाग की नज़र, जाने पूरा मामला

मध्य प्रदेश आयकर विभाग छोटे व्यापारियों की आय का लेखा-जोखा खंगालने जा रहा है. आईटी विभाग ने भोपाल नगर निगम से व्यावसायिक लाइसेंस लेकर कारोबार कर रहे 50 हजार से अधिक छोटे-मोटे कारोबारियों की डिटेल मांगी है

मध्य प्रदेश आयकर विभाग छोटे व्यापारियों की आय का लेखा-जोखा खंगालने जा रहा है. आईटी विभाग ने भोपाल नगर निगम से व्यावसायिक लाइसेंस (गुमाश्ता) लेकर कारोबार कर रहे 50 हजार से अधिक छोटे-मोटे कारोबारियों की डिटेल मांगी है. विभाग के अधिकारियों का मानना है कि छोटे व्यावसायिक लाइसेंस की आड़ में बड़े-बड़े ट्रांजेक्शन किए जा रहे हैं. ये व्यापारी खुद को सड़क किनारे चाय-पकौडे या छोटे व्यवसाय करने वाला बताकर टैक्स नहीं दे रहे हैं, जिसकी वजह से निगम को करोड़ों के राजस्व का नुकसान हो रहा है.

मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ के प्रधान मुख्य आयकर आयुक्त एके चौहान के मुताबिक इसके पहले इंदौर नगर निगम से लाइसेंस लेकर काम कर रहे 1.67 लाख व्यापारियों को नोटिस भेजा गया था. अब भोपाल नगर निगम में भी यही काम किया जाएगा. इस साल एमपी और छत्तीसगढ़ के लिए टैक्स कलेक्शन में 24 फीसदी की बढ़ोत्तरी करते हुए 28,900 करोड़ का लक्ष्य रखा गया है. जुलाई तक इसमें केवल 4000 करोड़ रुपये का टैक्स मिला है जो पिछले वित्तीय वर्ष 2018-19 को मुकाबले केवल 7.1 फीसदी ही ज्यादा है.


Share it
Top