Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

MBBS छात्रों को अगस्त से सीखनी होगी Chhattisgarhi

प्रदेश में मेडिकल की पढ़ाई करने वाले छात्रों के लिए बड़ी खबर है। खास बात यह है छत्तीसगढ़ी बोली सिर्फ प्रदेश के मेडिकल छात्रों को ही नहीं बल्कि दूसरे राज्यों से आकर मेडिकल की पढ़ाई करने वालों डॉक्टरों को भी इसे सिखाया जाएगा।

रायपुर। प्रदेश में मेडिकल की पढ़ाई करने वाले छात्रों के लिए बड़ी खबर है। खास बात यह है छत्तीसगढ़ी बोली सिर्फ प्रदेश के मेडिकल छात्रों को ही नहीं बल्कि दूसरे राज्यों से आकर मेडिकल की पढ़ाई करने वालों डॉक्टरों को भी इसे सिखाया जाएगा। वहीं हिंदी भाषी राज्यों से आने वाले ​हिंदी मीडियम के कई छात्र अंग्रेजी में कमजोर होते हैं, इसलिए उन्हें अंग्रेजी सिखाई जाएगी। दरअसल, मेडिकल काउंसिल आफ इंडिया (MCI) ने प्रदेश के सभी मेडिकल कॉलेजों को स्थानीय बोलियों व भाषाओं की जानकारी छात्रों व डॉक्टर्स को देने के निर्देश दिए हैं। छत्तीसगढ़ में मेडिकल कॉलेज की 1100 सीट में 15 प्रतिशत आल इंडिया कोटा और 3 प्रतिशत सेंट्रल पूल कोटा होता है। देखा गया है कि गैर-हिंदी भाषी राज्यों से आने वाले छात्रों को छत्तीसगढ़ी की जानकारी नहीं होती। जिसकी वजह से डॉक्टर्स को उनकी बात समझने में और अपनी बात समझने में दिक्कत होती है। छत्तीसगढ़ी सीखने से मरीजों का बेहतर तरीके से इलाज हो सकेगा।


Share it
Top