Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कुत्तों ने उड़ाई उत्तराखंड के CM की नींद, जानिए कैसे

इन आवारा कुत्तों को लेकर मुख्यमंत्री की सुरक्षा में तैनात कार्मिक भी परेशान हैं।

कुत्तों ने उड़ाई उत्तराखंड के CM की नींद, जानिए कैसे
X

आवारा कुत्तों से न केवल आम जनमानस परेशान है बल्कि इन कुत्तों ने उत्तराखंड के सीएम तक की नींद उड़ाकर रखी है। देहरादून के कैंट रोड स्थित मुख्यमंत्री के सरकारी आवास के आसपास आवारा कुत्तों का झुंड रहता है, जो देर रात तक आवास के सामने लड़ता व भौंकता रहता है। इससे सीएम की नींद उड़ी हुई है।

इन आवारा कुत्तों को लेकर मुख्यमंत्री की सुरक्षा में तैनात कार्मिक भी परेशान हैं। सीएम सुरक्षा की ओर से शहरी विकास विभाग और एक गैर सरकारी संस्था को पत्र भेजकर इस समस्या से निजात दिलाने की मांग की गई है। गौरतलब है कि करीब तीन साल पहले आवारा कुत्तों का मामला उच्च न्यायालय तक पहुंचा था।

उच्च न्यायालय ने नगर निगम को कुत्तों की नसबंदी के पुख्ता इंतजाम करने के आदेश भी दिए थे, लेकिन अभी तक इस मामले में ठोस समाधान नहीं हो पाया। राजधानी देहरादून में ही 50 हजार से ज्यादा आवारा कुत्ते में हैं। इनमें से कुछ बेहद खतरनाक श्रेणी के हैं।

दून अस्पताल के आंकड़ों पर गौर करें तो अमूमन हर रोज 20 से 25 लोग कुत्तों के काटने का शिकार बनते हैं। नगर निगम के एनिमल बर्थ कंट्रोल(एबीसी) सेंटर को शुरू हुए छह माह से ज्यादा हो गए, लेकिन अभी तक कुत्तों की नसबंदी करने के मामले में यह केंद्र सुस्त ही नजर आ रहा है।

छह माह में सिर्फ चार हजार कुत्तों की ही नसबंदी की जा सकी है। वहीं, शहर में कुत्तों की संख्या में तेजी से इजाफा जारी है। पशु क्रूरता अधिनियम के कारण भी नगर निगम कर्मी भी कुत्तों को पकड़ने में हीलाहवाली करते हैं।

खैर, मामला प्रदेश के मुखिया की नींद से जुड़ा तो समाधान की उम्मीद जरूर है, लेकिन समाधान केवल एक क्षेत्र तक सीमित रहेगा या बाकी हिस्सों के हिस्से में भी राहत आएगी, कहना मुश्किल है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top